Loading...

लो जी, मध्य प्रदेश की राजनीति में नया बवाल | Comparison between Kamal Nath and Narendra Modi

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति में नए बवाल की शुरूआत हो गई है। अगले 48 घंटे या शायद इससे भी ज्यादा, यह मामला सोशल मीडिया पर वायरल होता रहेगा और इसके बाद क्या कुछ होगा इसकी भविष्यवाणी फिलहाल नहीं की जा सकती। 

मुख्यमंत्री के कार्यालय ने जारी किया यह फोटो


जाने या अनजाने परंतु यह आग मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से लगाई गई है। फोटो के साथ केप्शन लिखा है: मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज मुम्बई में रिलायंस इंडस्ट्री के चेयरमैन श्री मुकेश अंबानी से मुलाक़ात की। मुख्यमंत्री ने श्री अंबानी को मप्र में एग्रो एवं फ़ूड प्रोसेसिंग क्षेत्र के साथ-साथ विभिन्न क्षेत्रों में निवेश की संभावनाओं के बारे में बताया लेकिन फोटो के सामने केप्शन फीका पड़ गया। बात ही बदल गई है। 

सोशल मीडिया पर आग भड़क रही है


अब सोशल मीडिया पर आग भड़कना शुरू हो गई है। लोग सीएम कमलनाथ और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच तुलना कर रहे हैं। वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रभु पटेरिया ने लिखा है 'फर्क है.... कद-कद, पद-पद और सम्बंधों में।' बता दें कि 2 रोज पहले ही मंत्री जीतू पटवारी ने कहा था कि कमलनाथ को भारत का प्रधानमंत्री होना चाहिए। यह तो तय है कि भाजपा इसका करारा जवाब देगी, देखना रोचक होगा कि वो इस फोटो के बदले में कमलनाथ का कौन सा फोटो खोजकर लाते हैं।

जरूरी नहीं था ये दोनों फोटो जारी किए जाते

उद्योगपति मुकेश अंबानी से सीएम कमलनाथ की मुलाकात के समय के कुछ और भी फोटो थे। ये फोटोग्राफ कतई भड़काऊ नहीं थे। कम से कम मुख्यमंत्री कार्यालय के लिए उचित नहीं था कि वो इस तरह के फोटो जारी करता। उसका फोकस उद्योगपति और मुख्यमंत्री की मुलाकात पर होना चाहिए था। ये फोटो 'नरेंद्र सलूजा' जारी करता तो ज्यादा उचित होता। याद रखना चाहिए, मध्य प्रदेश में एक दूसरे को इस तरह चिढ़ाने, किसी की खिल्ली उड़ाने और बदले की राजनीति करने की परंपरा नहीं है।