Loading...

UNION BANK के खाते से 59.90 लाख उड़ गए, बैंक ने खाताधारक की मदद तक नहीं की | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। UNION BANK OF INDIA के एक सीसी अकाउंट से 59.90 लाख रुपए निकल गए और खाताधारक को पता ही नहीं चला। खाताधारक एक ठेकेदार है। उनकी शिकायत है कि बैंक के प्रतिष्ठित खाताधारक होने के बावजूद बैंक ने इस मामले में उनकी कोई मदद नहीं की। शिकायतकर्ता का दावा है कि उन्होंने ना तो किसी को चेक दिया और ना ही किसी के नाम ITGS किया। बैंक से निराश होकर ठेकेदार ने न्यायालय की शरण ली। अब अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 

कोतवाली थाना प्रभारी अजय चानना ने बताया कि बसंत विहार निवासी हर्ष शिवहरे पुत्र मांगीलाल शिवहरे (Shivhare son Mangilal Sheohar) पेशे से कारोबारी है और अभी उनके ठेके डबरा में चल रहे हैं। कारोबार की सहूलियत के लिए उन्होंने कोतवाली थाना क्षेत्र के सराफा बाजार स्थित यूनियन बैंक आफ इंडिया में 6 अगस्त 2016 में सीसी खाता खोला था, इसी खाते से वे कारोबार का पूरा लेनदेन करते थे। कुछ माह बाद पता चला कि उनके खाते में जमा रुपयों में से 59.90 लाख रुपये निकाले गए हैं, जब इसका पता चला तो वह बैंक पहुंचा और मामले की शिकायत की, लेकिन कई माह बीतने पर भी बैंक प्रबंधन ने उनकी शिकायत पर प्रभावी कार्रवाई नहीं की।

पीडि़त ने बताया कि काफी परेशान होने के बाद बैंक प्रबंधन ने प्रभावी कदम नहीं उठाए तो पीडि़त ने मामले की याचिका न्यायालय में लगाई। न्यायालय ने उनकी शिकायत पर कोतवाली थाना पुलिस को मामले मे एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए, जिस पर पुलिस ने अज्ञात ठगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। कोतवाली थाना पुलिस ने पीडि़त की शिकायत पर भारतीय दंड विधान की धारा 420, 406, 415, 417, 467, 468, 471 के तह अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। पीडि़त को शंका है कि धोखाधड़ी में बैंक प्रबंधक सहित अन्य अफसर भी शामिल हैं।