SARKARI NAUKRI: कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में आ रहीं हैं 5 लाख नौकरियां

भोपाल। यदि आप NET या PhD हैं तो यह आपके लिए किस्मत का ताला खोलने वाली खबर है। देश भर के तमाम सरकारी कॉलेज और विश्वविद्यालयों में बंपर भर्तियां होने जा रहीं हैं। यूजीसी यानी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने सभी कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज को 6 महीने के भीतर खाली पदों को भरने के लिए कहा है। UGC ने ये गाइडलाइन जारी करते हुए सभी केंद्रीय यूनिवर्सिटी, कॉलेजों के अलावा डीम्ड विश्वविद्यालयों को भी सभी पद भरने को कहा है। बता दें कि देश भर में करीब 5 लाख पद खाली हैं। 

यूजीसी की ओर से देश के सभी कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और डीम्ड विश्वविद्यालयों को रिक्त पदों को भरने के लिए छह महीने की समय सीमा दी गई है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देश पर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने इसी सप्ताह ये आदेश सभी उच्च शिक्षण संस्थानों को दिया है। आदेश के मुताबिक शिक्षण संस्थानों में खाली पदों की पहचान से लेकर उम्मीदवारों के चयन तक का शेड्यूल जारी किया गया है। कुल छह माह की समय सीमा में ये पद भरने हैं।

इसमें सामान्य और आरक्षित श्रेणी के पदों को भरते समय रोस्टर नियमों का पालन करने के निर्देश भी दिए गए हैं। विश्वविद्यालयों के कुलपति को लिखे गए पत्र में यूजीसी ने कहा है कि उच्च शैक्षिक संस्थानों में गुणवत्तापूर्ण टीचिंग फैकल्टी की कमी एक बड़ी चिंता है। इसे सुधारने के लिए तत्काल यह कदम उठाना वक्त की मांग थी। बता दें कि देश के सभी उच्च शिक्षण संस्थानों में टीचरों की कमी है, इसका असर शिक्षा की गुणवत्ता पर पड़ रहा है। केंद्रीय विश्वविद्यालयों, डीम्ड यूनिवर्सिटी के कुलपतियों और शिक्षण संस्थानों के प्रमुखों को इस आदेश पर तुरंत अमल करने को कहा गया है। ऐसा न करने पर अनुदान तक वापस ली जा सकती है।

5  लाख से ज्यादा पद खाली

एक अध्ययन के मुताबिक देश भर के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कम से कम पांच लाख पद खाली हैं। सिर्फ 48 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कम से कम 5,000 पद खाली हैं। यूजीसी देश भर के 900 विश्वविद्यालयों और 40,000 से अधिक कॉलेजों की देखरेख करता है।

20 जून तक देनी है जानकारी

यूजीसी ने कहा है कि छह महीने की समयावधि में रिक्त पदों पहचान करके 15 दिनों तक इसकी जानकारी NHERC पोर्टल पर 20 जून, 2019 तक अपलोड करना है। 30 दिनों के भीतर प्रत्येक संस्थान के सक्षम प्राधिकारी को इसकी स्वीकृति देने की आवश्यकता होती है। पदों को अगले 15 दिनों में विज्ञापित किया जाना चाहिए, फिर चयन समितियों का गठन और उनकी बैठकों के लिए तारीखें निर्धारित की जानी चाहिए।

चौथे महीने के अंत तक आवेदनों की जांच की जानी चाहिए और शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को भेजे गए साक्षात्कार पत्र संस्थान की वेबसाइट पर भी अपलोड किए जाने चाहिए। चौथे महीने के अंत तक, आवेदनों की जांच की जानी चाहिए और शॉर्टलिस्ट किए गए उम्मीदवारों को भेजे गए साक्षात्कार पत्र संस्थान की वेबसाइट पर भी अपलोड किए जाने चाहिए। पांचवा महीना साक्षात्कार आयोजित करने और अंतिम उम्मीदवारों के चयन करने के लिए आरक्षित है। इसके बाद छह महीने के अंत तक नियुक्ति पत्र जारी करें।