Loading...

INDORE NEWS : आज से किसी भी प्रकार की बिजली कटौती नहीं होगी

इंदौर। शहर में रविवार से बिजली की घोषित कटौती बंद होगी। पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने तुरंत प्रभाव से बिजली लाइन के मेंटेनेंस का जारी काम भी रोकने की घोषणा कर दी है। प्रमुख सचिव ने शुक्रवार देर रात तक कंपनी अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर चर्चा की। उन्होंने बढ़ती गर्मी में कटौती से लोगों को हो रही परेशानी पर नाराजगी जताई। शनिवार दोपहर कंपनी ने मेंटेनेंस रोकने और कटौती बंद करने का एलान कर दिया। कंपनी ने कहा है कि अब सिर्फ बहुत जरूरी सुधार के लिए ही बिजली बंद की जाएगी, वो भी अलसुबह के दो घंटों में। 

इससे पहले कंपनी ने बारिश पूर्व मेंटेनेंस का शेड्यूल जारी कर दिया था। मेंटेनेंस के लिए शहर के अलग-अलग हिस्सों में हर दिन चार घंटे या उससे ज्यादा समय के लिए बिजली कटौती हो रही थी। कंपनी ने लक्ष्य बनाया था कि हर दिन 10-10 फीडरों में लाइन का मेंटेनेंस होगा। 25 जून तक मेंटेनेंस और कटौती लगातार जारी रहना थी। दिन में हो रही इस मेंटेनेंस कटौती और कभी भी अचानक गुल होने वाले बिजली व अघोषित कटौती से लोगों की परेशानी और असंतोष भी बढ़ता दिख रहा था। शुक्रवार को तापमान रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। इस दौरान जिन भी क्षेत्रों में मेंटेनेंस के लिए बिजली बंद हुई, वहां से लगातार कंपनी को शिकायतें होती रहीं। साथ ही सोशल मीडिया पर भी कंपनी और सरकार के खिलाफ मैसेज प्रसारित होते रहे। कंपनी का कहना है कि क्योंकि इन दिनों गर्मी चरम पर है। पूरे प्रदेश में तापमान ने रिकॉर्ड बनाया है। ऐसे में लोगों को परेशानी से बचाने के लिए मेंटेनेंस को स्थगित कर दिया गया है। बीते चार-पांच दिनों में शहर के करीब 20 प्रतिशत फीडरों का मेंटेनेंस काम पूरा हुआ है। अब भी 80 प्रतिशत फीडरों पर मेंटेनेंस काम किया जाना है। अब बाकी काम तब होगा, जब गर्मी से राहत मिलेगी और तापमान स्थिर होगा। संभवतः जुलाई में बिजली कंपनी अधूरे मेंटेनेंस का काम पूरा कर सकती है।

कंपनी के अधीक्षण यंत्री (शहर) अशोक शर्मा के मुताबिक नियमित मेंटेनेंस शटडाउन जरूर रोका गया है, लेकिन कंपनी ऐसे सुधार काम जारी रखेगी, जो अत्यावश्यक श्रेणी के हैं। यानी फॉल्ट और खराबी की स्थिति में होने वाले सुधार या ऐसी लाइन, जहां पर परेशानी पैदा हो रही है, वहां पर मेंटेनेंस करेंगे। इसके लिए भी दोपहर या शाम को आपूर्ति बंद नहीं की जाएगी। ऐसे जरूरी सुधार के लिए सिर्फ सुबह 6 से 8 बजे के बीच ही आपूर्ति बंद करने की अनुमति मिल सकेगी। हालांकि इसके लिए उच्च स्तर पर अनुमति लेना अनिवार्य होगा।
आपूर्ति के रिकॉर्ड टूटे

तेज गर्मी के साथ शहर में बिजली की मांग और खपत के बीते सारे रिकॉर्ड भी टूट गए हैं। शुक्रवार को दिन का तापमान 44 डिग्री तक पहुंचने के साथ ही इंदौर में बिजली की सबसे ज्यादा मांग व आपूर्ति का रिकॉर्ड भी बन गया। शहर में बिजली की कुल मांग 580 मेगावॉट रही। यह अब तक की सबसे ज्यादा मांग है। बीते वर्ष गर्मी की चरम स्थिति में भी बिजली की कुल मांग 500 मेगावॉट से कम रही थी। इस वर्ष कंपनी का आकलन था कि मांग बढ़कर 550 मेगावॉट तक पहुंच सकती है। हालांकि मांग की स्थिति ने कंपनी के पूर्व अनुमानों और आकलनों को भी गलत साबित कर दिया है। एक दिन में आज तक इतनी बिजली आपूर्ति इससे पहले कभी नहीं की गई।