Loading...

POST OFFICE के साथ STARTUP शुरू करें, 5000 सिक्योरिटी, 50 हजार तक इनकम

यदि आप अपना स्टार्टअप शुरू करने की प्लानिंग (NEW SRATUP PLAN) कर रहे हैं और किसी ऐसे इलाके में हैं जहां आसपास कोई पोस्ट आफिस नहीं है तो आप भारतीय डाक विभाग (INDIA POST) के साथ मिलकर अपना स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं। यह आप अपने घर के बाहर वाले कमरे से भी शुरू कर सकते हैं। पूंजी के नाम पर आपको केवल 5000 रुपए सुरक्षानिधि जमा करानी है। अच्छा व्यवहार रखने वाले युवा इससे 50 हजार रुपए प्रतिमाह तक कमा रहे हैं। 

POST OFFICE की FRANCHISE कितनी तरह की होतीं हैं

डाक विभाग द्वारा दो प्रकार की फ्रेंचाइजी की पेशकश की गई है। (1) उन क्षेत्रों में फ्रेंचाइजी आउटलेट्स के जरिए काउंटर सर्विस मुहैया करना जहां डाक सेवाओं की मांग है लेकिन वहां पोस्ट ऑफिस नहीं खोला जा सकता। (2) शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में पोस्टल एजेंट्स के माध्यम से पोस्टल स्टांप्स और स्टेशनरी की बिक्री।

पोस्ट ​आफिस की फ्रेंचाइजी कैसे शुरू करें | HOW TO START POST OFFICE FRANCHISE

आपको सबसे पहले अपने पोस्टल डिविजनल ऑफिस से फ्रेंचाइजी आउटलेट एग्रीमेंट फॉर्म लेना होगा और आवश्यक डॉक्यूमेंट्स के साथ उसको भरके जमा करना होगा। आवेदन से संबंधित आपको कोई समस्या हो तो आप पोस्ट ऑफिस अधीक्षक से भी बात कर सकते हैं। आपकी एप्लीकेशन मिलने के 14 दिनों के अंदर ASP/SDI की रिपोर्ट के आधार पर संबंधित डिविजनल हेड आपके आवेदन पर विचार करेंगे और योग्य पाए जाने पर आपका फ्रेंचाइजी के लिए सलेक्शन करेंगे। चयनित हो जाने के बाद डिपार्टमेंट के साथ आपको एक MOU साइन करना होगा। विभाग के अनुसार पोस्टल पेंशनरों और कंप्यूटर सुविधाएं उपल्बध कराने वाले लोगों को फ्रेंचाइजी के लिए प्राथमिकता दी जाएगी। फ्रेंचाइजी मिलने पर विभाग द्वारा आवश्यक ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

POST OFFICE की FRANCHISE का SECURITY MONEY कितना है

सिक्योरिटी डिपॉजिट फ्रेंचाइजी द्वारा एक दिन में किये जाने वाले फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन पर आधारित होता है। कम से कम सिक्योरिटी डिपॉजिट 5000 रुपये रखा गया है। फ्रेंचाइजी खुलने के बाद प्रतिदिन की औसत रेवेन्यू के आधार पर यह बढ़ भी सकता है। सिक्योरिटी डिपॉजिट NSC की फॉर्म में होगा।

पोस्ट ​आफिस की फ्रेंचाइजी किसे नहीं मिलेगी

ऐसी ग्राम पंचायतें जहां संचार सेवा योजना के तहत पंचायत संचार सेवा केंद्र हैं, वहां फ्रेंचाइजी नहीं खोली जा सकेगी। वहीं पोस्ट ऑफिस कर्मचारी के परिवार के सदस्य उसी डिवीजन में फ्रेंचाइजी नहीं ले सकेंगे, जहां कर्मचारी काम कर रहा है।

पोस्ट ​आफिस की फ्रेंचाइजी में क्या सुविधाएं मिलेंगी

पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी स्टांप्स और स्टेशनरी की बिक्री कर सकेगी। इसके साथ ही डाक, रेवेन्यू टिकट, स्पीड पोस्ट की बुकिंग, रजिस्ट्री, मनी ऑर्डर (100 रुपये से अधिक), पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस, डिपार्टमेंट की तरफ से बिल, टैक्स आदि सेवाएं भी फ्रेंचाइजी में मिल सकेगी।

पोस्ट ​आफिस की फ्रेंचाइजी मेंं कितना कमीशर मिलेगा

फ्रेंचाइजी को हर सर्विस पर विभाग की ओर से कमीशन मिलेगा। यह कमीशन MOU में तय होगा। रजिस्टर्ड आर्टिक्ल्स की बुकिंग पर 3 रुपए, स्पीड पोस्ट आर्टिक्ल्स की बुकिंग पर 5 रुपए, 100 से 200 रुपए के मनी ऑर्डर की बुकिंग पर 3.50 रुपए, 200 रुपए से अधिक के मनी ऑर्डर पर 5 रुपए और हर महीने रजिस्ट्री और स्पीड पोस्ट के 1000 से ज्यादा आर्टिकल्स की बुकिंग पर 20 फीसदी अतिरिक्त कमीशन भी मिलेगा। कई आर्टिकल्स पर ज्यादा बिक्री या बुकिंग करने पर अतिरिक्त कमीशन का भी प्रावधान किया गया है। विभाग का कहना है कि, इस तरह एक फ्रेंचाइजी से कम से कम हर महीने 50 हजार रुपये तक कमाए जा सकते हैं।