Loading...

मनोहर डेयरी के सामने पति ने पत्नी के पर एसिड फेंका | BHOPAL NEWS

भोपाल. हमीदिया रोड स्थित मनोहर डेयरी (Manohar Dairy) के सामने एक युवक ने सरेराह पत्नी के ऊपर एसिड फेंक (Acid attackदिया। महिला 50 फीसदी तक झुलस गई है। एसिड का असर उसकी एक आंख पर भी हुआ है। हनुमानगंज पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर उसके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

कलेक्टोरेट ऑफिस के पास रहने वाला 34 वर्षीय युवक छोला मंदिर स्थित एक होटल में कुक है। टीआई शिवपाल सिंह कुशवाहा (TI Shivpal Singh Kushwaha)ने बताया कि 10 दिन पहले तक 31 वर्षीय पत्नी उसके साथ ही रहती थी। दोनों की 15 साल की एक बेटी और दो बेटे हैं। आरोपी शादी के बाद से ही नशे की हालत में महिला के साथ मारपीट करता था। शक भी करता था। परेशान महिला बच्चों के साथ 10 दिन पहले ही द्वारका नगर इलाके में किराए से रहने लगी थी। वह हमीदिया रोड स्थित एक दुकान पर काम करती है। 

सोमवार रात पौने आठ बजे महिला काम खत्म कर मनोहर डेयरी के पास बस का इंतजार कर रही थी। तभी उसका पति दूध के बर्तन में एसिड लेकर पीछे से आया और उस पर उड़ेल दिया। वारदात के बाद लोगों ने आरोपी की जमकर धुनाई की और उसे पुलिस के हवाले कर दिया। 

तलाक का नोटिस (Notice to divorce) मिलने के बाद से ही युवक अपनी पत्नी को मार डालने की प्लानिंग कर रहा था। सोमवार शाम से उसने जमकर शराब पी। फिर वारदात के दो घंटे पहले हमीदिया रोड स्थित उस दुकान के पास आकर खड़ा हो गया, जहां पत्नी काम करती थी। इससे पहले उसने घोड़ा नक्कास स्थित एक ठेले से एसिड खरीदा था। हनुमानगंज पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया है कि उसे लग रहा था कि पत्नी अब 15 साल की बेटी को भी बिगाड़ रही है। सोमवार शाम पौने आठ बजे जैसे ही उसने पत्नी को देखा, कुछ कदम पीछा कर एसिड फेंक दिया। 

एसआई प्रवीण ठाकरे ने बताया कि वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। उस वक्त महिला जलन से कराह रही थी। ये पता था कि एसिड अटैक में झुलसे हुए व्यक्ति पर दूध या ठंडे पानी की बौछार की जाती है। इसलिए पास की दुकान से ठंडे पानी के पाउच लेकर उसमें छोटे-छोटे छेद कर लिए। ऑटो में एक सिपाही को बिठाया जो महिला के झुलसे हुए हिस्सों पर ठंडे पानी की बौछार करते हुए उसे अस्पताल ले गया। यहां उसे बर्न वार्ड में भर्ती करवाया गया है।

बेटी बोली- मेरा भी गला पकड़ा था

एसिड अटैक का पता चलते ही महिला के परिजन और तीनों बच्चे अस्पताल पहुंचे। 10 व 12 साल के दोनों बेटे सहमे हुए हैं। 15 साल की बेटी भी पिता की इस करतूत पर नाराजगी जाहिर कर रही थी। उसने कहा कि पापा तो मम्मी से हमेशा मारपीट करते थे। नशे में एक बार उन्होंने मेरा भी गला दबाने की कोशिश की। इन हरकतों से हम परेशान हो गए थे। अलग रहना शुरू किया तो यहां भी वह आ गए।