Loading...

महिला जज को 1 साल से पीट रहा था वकील पति, कल हत्या का प्रयास किया | DOMESTIC VIOLENCE

पानीपत/यमुनानगर। महिला जज (LADY JUDGE) ने अपने एडवोकेट पति (ADVOCATE HUSBAND) पर मारपीट कर हत्‍या करने के प्रयास (ATTEMPT TO MURDER) का मुकदमा दर्ज कराया है। शिकायत के अनुसार 2017 से लेकर अब तक एडवोकेट पति ने कई बार मारपीट की (DOMESTIC VIOLENCE)। तीन दिन पहले भी मारपीट कर जान से मारने की कोशिश की गई। हालत बिगडऩे पर अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

महिला जज (जेएमआइसी, जगाधरी) की ओर से हुडा पुलिस को दी गई शिकायत के मुताबिक वर्ष 2016 में उसकी नियुक्ति न्यायिक मजिस्ट्रेट के पद हुई थी। ट्रेनिंग के दौरान ही 15 जनवरी, 2017 को चंडीगढ़ निवासी एडवोकेट से शादी हो गई। शादी के करीब 10 दिन बाद वह अपनी ट्रेनिंग पर लौट गई। इसके बाद जगाधरी न्यायालय में नियुक्ति हो गई। शादी के बाद से ही पति व ससुराल वालों का व्यवहार रुखा रहा। पति चंडीगढ़ में बतौर वकील प्रैक्टिस करता है। पति वेतन के हिसाब के लिए गाली गलौज करता था। विरोध करने पर मारपीट करता था। यह भी कहता था कि वह अपना वेतन अपने माता-पिता को दे रही है। मायके वालों को भी गालियां देता था। वह अपनी माता -पिता की इज्जत की खातिर सब कुछ सहती रही। चार फरवरी 2018 को भाभी की दादी के भोग में जाना था। पति को जाने के लिए कहा तो उसने गाली देना शुरू कर दिया और बालों से पकड़कर मुंह दीवार से लगा दिया। बड़ी मुश्किल उससे बचकर भोग के लिए चली गई।

गले से पकड़कर लटका दिया था दो फीट ऊपर
शिकायत के अनुसार, छह फरवरी 2018 को उन्‍हें अपने पारिवारिक मित्र की शादी में पंचकूला जाना था। अपने गनमैन को साथ लेकर शादी में गई। वहां से वापस सास के पास आई तो पति भी अपनी गाड़ी से आ गया। उनको देखकर वह बार-बार हॉर्नर बजाने लगा। रास्ते में रुकना उचित नहीं समझा और यमुनानगर मकान पर आ गई। यहां पर भी पति आ गया और गाली गलौज करने लगा। बाहर से खींच कर अंदर ले गया। वहां पर गले से पकड़कर दो फीट ऊपर लटका दिया। किसी तरह से हाथ जोड़कर अपनी जान बचाई। वह अपना रिश्ता बनाए रखना चाहती थी। इस बारे सास को भी बताया। बाद में कई दफा मारपीट हुई। अब तीन दिन पहले ही इसी तरह से मारपीट से की, जिससे उनकी हालत बिगड़ गई। अस्पताल में दाखिल होना पड़ा।

जज के बयान पर केस दर्ज कर लिया : चौकी इंचार्ज 
हुडा चौकी इंचार्ज विजय वालिया ने महिला जज के बयानों के आधार पर उनके एडवोकेट पति के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया। जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी। आरोपित के खिलाफ धारा 307 (हत्या का प्रयास), 506 (जान से मारने की धमकी) व 323 (मारपीट) की धाराओं में केस दर्ज कर लिया।