Loading...

मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के पार्षद भतीजे ने की यातायात पुलिस से बदसलूकी! | MP NEWS

नीमच / इंदौर। (कमलेश सारड़ा)। 15 साल बाद कांग्रेस सत्ता में आने के बाद छुटभइया नेताओं के हौसले भी सातवें आसमान पर आ गए है। दिन रात अपने घर परिवार से दूर रहकर आमजनता की सुरक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहने वाली पुलिस को भी अब कुछ नही समझ रहे है। जी हां ऐसा ही एक मामला आज इंदौर के महानगर में देखने को मिला जहाँ पर यातायात सूबेदार सोनू बाजपेयी अपनी टीम के साथ इंदौर शहर के राजीव गांधी सर्कल पर आमजनता की सुरक्षा के लिहाज से चेकिंग पॉइंट लगाए हुवे थे और नियम तोड़ने वालों के खिलाफ़ चलानी कार्यवाही कर रहे थे। 

इसी दौरान रविवार सुबह 10:42 बजे PWD मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के पार्षद भतीजे अपनी सफेद कलर की स्कॉर्पियो में फोन से बात करते हुए जा रहे थे इसी दौरान यातायात आरक्षक द्वारा उनके वाहन को रुकवाया गया और कहां की आप फोन पर बात करते हुए जा रहे हैं इस पर अभय वर्मा भड़क गए और बोले की चल हट मेरे मुंह मत लग और गाड़ी से उतरकर कर सीधे यातायात सूबेदार सोनू बाजपाई के पास पहुंचे और बोले 'अब ऐसा होगा क्या हम लोगों को भी रोकना शुरु कर दोगे क्या' सरकार तो हमारी है अब हम को भी रोकोगे क्या? इस पर सूबेदार ने कहा आपकी गाड़ी का चालान बनेगा आप फोन पर बात करते हुए जा रहे थे। 

इस दौरान पार्षद अभय वर्मा ने आरक्षक को धक्का दिया साथ ही आरक्षक से बत्तमीजी करते हुवे तू तकारे से बात की इस को देखते हुवे पुलिस ने जैसे ही अपने मोबाइल में वीडियो बनाना शुरू किया तो पार्षद वर्मा हरकत में आ गए और भोले बनने लगे उसके बाद वहां से चले गए और 10 मिनट के बाद अपने कई समर्थकों को साथ लेकर आए और यातायात पुलिस के इर्दगिर्द खड़े हो गए और आपस में कमेंट पास करने लगे एक बोला मैडम का कहां बालाघाट ट्रांसफर करवाना है दूसरा बोला नहीं-नहीं मैडम को तो झाबुआ भेजेंगे। 

कुल मिलाकर इस घटना से अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में 15 सालों के बाद कांग्रेस की सरकार बनने के बाद किस तरह से छूट भईया नेता अपनी मर्यादा भूलते जा रहे है। गौरतलब है कि पूर्व में भी पार्षद अभय वर्मा इस तरह से पुलिसिया कार्रवाई के दौरान पुलिसकर्मियों को सरकार का धोस देकर दबाते रहे है। इनके खिलाफ कई मामले भी दर्ज है। अब देखने वाली बात होगी क्या ऐसे छूटभईया नेताओं पर कार्रवाई होगी या ऐसा ही चलता रहेगा?