Loading...

GWALIOR में पुलिस पार्टी पर हमला, हिरासत से वारंटी को छुड़ा ले गए | MP NEWS

ग्वालियर। तिघरा थाना क्षेत्र के नगदा गांव में पुलिस पार्टी पर उस समय हमला हो गया जब वो एक वारंटी को 20 साल बाद गिरफ्तार करने पहुंची। आरोपी गब्बर सिंह के खिलाफ 20 साल पहले वारंट जारी हुआ था परंतु पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया, कोर्ट में फरार बताकर 5000 का इनाम घोषित कर दिया। जब पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया तो गब्बर सिंह के परिवार और गांव वालों ने पुलिस पार्टी पर हमला बोल दिया। 

जनकगंज थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि 20 साल से फरार 5000 रुपए का इनामी बदमाश गब्बर सिंह तिघरा थाना क्षेत्र के नगदा गांव में रह रहा है। सूचना पर एसआई रविंद्र मालवीय को पार्टी के साथ शुक्रवार काे आरोपी को पकड़ने भेजा गया। पुलिस ने इनामी वारंटी गब्बर सिंह को पकड़ कर जीप में बैठा लिया था। तभी गब्बर के परिजनों ने गांववालाें के साथ मिलकर पुलिस पर लाठी, डंडों से हमला कर दिया। अचानक हमला होेने पर पुलिस पार्टी कुछ समझ पाती उससे पहले ही हमलावरों ने जीप में बैठे वारंटी गब्बर को उतार लिया। पुलिस पार्टी ने विरोध किया तो हमलावरों ने उन पर लाठियों से हमला कर दिया। 

अतिरिक्त बल ने दी गांव में दबिश 

पुलिस टीम पर हमला होने की जानकारी मिलने पर पुलिस अफसर और तिघरा थाना प्रभारी बल के साथ मौके पर पहुंचे, लेकिन उससे पहले ही हमलावर वहां से भाग गए। पुलिस ने उप निरीक्षक रविंद्र मालवीय की शिकायत पर आरोपी गब्बर सिंह, हीरा सिंह, सोने सिंह, छोटा सिंह गुर्जर के खिलाफ पुलिस पार्टी पर हमला व शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज कर लिया है।