Loading...

क्या गोमूत्र से कैंसर ठीक हो जाता है: विशेषज्ञों से समझिए | GOMUTRA FOR CANCER SPECIALIST COMMENT

यह सवाल कई बार सामने आ चुका है। एक बार फिर आ गया है। सवाल यह है कि क्या आयुर्वेद में कैंसर का सटीक और सही इलाज है। क्या गौमूत्र से कैंसर का इलाज किया जा सकता है। क्या गोमूत्र से कैंसर ठीक हो सकता है। यदि हां तो यह किस स्टेज तक काम करता है। सवाल यह भी है कि क्या कीमोथैरेपी के बाद भी गोमूत्र असरकारी रहेगा। 

हमने तो आज तक नहीं देखा: एसोसिएट प्रोफेसर वेंकटरमन

मेडिकल एंड पीडियाट्रिक ऑन्कॉलजी के एसोसिएट प्रोफेसर वेंकटरमन राधाकृष्णन ने Quora पोस्ट में इस साल जनवरी 2018 में इसका उत्तर दिया। उन्होंने इस पोस्ट में कहा कि गोमूत्र पीने से कैंसर का इलाज संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि मैंने और मेरे साथी ऑन्कॉलजिस्ट ने अभी तक एक भी ऐसा कैंसर का मरीज़ नहीं देखा जिसने सिर्फ गोमूत्र पिया हो और उसका कैंसर ठीक हो गया हो।

गोमूत्र खेतों में डालने वाली चीज़ है: राधाकृष्णन

राधाकृष्णन ने लिखा कि गोमूत्र आदमी के मूत्र से अलग नहीं है। इसमें 95 फीसदी पानी के अलावा सोडियम, पोटेशियम, फास्फोरस और क्रेटिनिन जैसे खनिज होते हैं। इनमें से कोई भी कैंसर-रोधी तत्व नहीं है। उन्होंने कहा कि गोमूत्र खेतों में डालने वाली चीज़ है ताकि उन्हें उपजाऊ बनाया जा सके, न कि इसे बोतल में भरकर कैंसर की दवा के रूप में बेचना चाहिए।

हमने गोमूत्र से कैंसर का इलाज किया है: जूनागढ़ विश्वविद्यालय

हाल ही में टाइम्स ऑफ इंडिया के एक आर्टिकल में छपा था कि गुजरात के जूनागढ़ विश्वविद्यालय के बायोटेक्नॉलजी के वैज्ञानिकों ने इस बात का दावा किया है कि वो गोमूत्र से कैंसर का इलाज करने में सफल हो गए हैं। हालांकि उनके इस दावे की पुष्टि वास्तविक वैज्ञानिक जांच से नहीं हुई है। रिसर्च टीम में श्रद्धा भट्ट और रूकमसिंह तोमर के साथ कई अन्‍य शोधकर्ता भी इस रिसर्च में शामिल थे और इस निष्‍कर्ष तक पहुंचने के लिए उन्‍होंने सालों तक इस विषय पर अध्‍ययन किया है। श्रद्धा भट्ट का कहना है कि ' ये रिसर्च जोखिमभरी थी क्‍योंकि इसमें हमने सीधाी कैंसर की कोशिकाओं को एक बोतल में भरकर उस पर अध्‍ययन किया था। हमने रिसर्च में पाया कि एक दिन में कैंसर की कोशिकाओं को मारने के लिए गौ मूत्र प्रभावशाली होता है। इस रिसर्च से जुड़े अन्‍य सदस्‍य का कहना है कि कीमोथेरेपी हैल्‍दी सेल्‍स को भी नष्‍ट कर देती है जबकि गौ मूत्र सिर्फ संक्रमित कोशिकाओं को ही खत्‍म करता है।

कीमोथिरैपी के अलावा बाकी सबकुछ खतरनाक है

दिल्ली में ऑन्कॉल्जिस्ट डॉ. अमित अग्रवाल ने कहा कि बिना प्रयोग और उसकी सफलता के किसी चीज़ को कैंसर का इलाज नहीं माना जा सकता। कैंसर का इलाज अभी कीमोथिरैपी ही है।मेडिकल के क्षेत्र में 20 साल का अनुभव रखने वाले डॉ. अमित का कहना है कि मेरे साथी डॉक्टर भी कैंसर जैसे इलाज के लिए किसी वैकल्पिक इलाज का प्रयोग करने से बचते हैं क्योंकि इसमें काफी खतरा होता है।

मेरा कैंसर गोमूत्र से ठीक हुआ: साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर

मध्यप्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से चुनाव 2019 लड़ रहीं भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक बयान के दौरान कहा कि उनका कैंसर गोमूत्र से ठीक हुआ है। बता दें कि उन्हे ब्रेस्ट कैंसर था। मालेगांव बम ब्लास्ट मामले में वो जेल में थीं। कैंसर के कारण ही उन्हे जमानत मिली और अब वो चुनाव लड़ रहीं हैं। पूरी तरह से स्वस्थ नजर आ रहीं हैं।