Loading...

परीक्षा नियमों को ताक पर रख 12वीं के 43 परीक्षार्थियों को लगभग दो घंटे तक नहीं देने दी परीक्षा | MP NEWS

देवास। उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सोनकच्छ (Girls Higher Secondary School Sonkatch) स्थित परीक्षा केंद्र (Examination center) पर गुरुवार को संयुक्त संचालक की टीम ने सुबह 8.45 बजे के बाद आने वाले 43 परीक्षार्थियों (Examinees) को प्रवेश नहीं दिया। नाराज परीक्षार्थियों ने चक्काजाम कर दिया। एक घंटे 40 मिनट के बाद लोक निर्माण विभाग मंत्री सज्जनसिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) का फोन आने पर सभी बच्चों को एक अलग कमरे में बैठाकर पूरे तीन घंटे परचा हल करने दिया गया। गुरुवार को कक्षा 12वीं में भूगोल, रसायन शास्त्र और गृह विज्ञान (Geography, Chemistry, and Home Science) के पेपर थे। 

यह है मामला 

संयुक्त संचालक संजय गोयल (Sanjay Goel) परीक्षा केंद्र (Examination center) पर सुबह आठ बजे यहां पहुंच गए। उन्होंने आदेश दिया कि 8.45 बजे बाद पहुंचने वाले परीक्षार्थियों को प्रवेश नहीं दिया जाए। इसके बाद दरवाजे पर ताला डाल दिया गया। 8.45 बजे के बाद 43 परीक्षार्थी पहुंचे, जिन्हें प्रवेश नहीं दिया। परीक्षार्थी नियमों की दुहाई देते रहे कि सुबह 9.15 बजे तक नियमानुसार परीक्षा कक्ष में प्रवेश दिया जाना चाहिए, लेकिन अफसरों ने नहीं सुनी।

एसडीएम अंकिता जैन व तहसीलदार जीएस पटेल (SDM Ankita Jain and Tehsildar GS Patel) भी पहुंचे और संयुक्त संचालक से चर्चा की। उन्होंने नियमों का हवाला देकर प्रवेश नहीं देने की बात कही। नाराज परीक्षार्थियों ने एक घंटे बाद डाक बंगला रोड पर चक्काजाम कर दिया। मामला बढ़ता देख पुलिस पहुंची और परीक्षार्थियों को रोड से हटाया। परीक्षार्थी फिर परीक्षा केंद्र के दरवाजे पर पहुंचे और गुहार लगाते रहे।

जानकारी मिलने पर कुछ कांग्रेसी केंद्र पहुंचे और मंत्री सज्जनसिंह वर्मा को सूचना दी गई। मंत्री वर्मा ने अपने प्रतिनिधियों को भेजकर हर हाल में परीक्षार्थियों को परीक्षा दिलाने के निर्देश दिए। शिक्षा विभाग के नियमानुसार सुबह 8.45 बजे तक ही परीक्षा केंद्र में प्रवेश दिया जा सकता है। इसके बाद प्रवेश वर्जित है। भोपाल में बोर्ड के सचिव से अनुमति मिलने के बाद परीक्षार्थियों को परीक्षा की अनुमति दी गई है। -संजय गोयल, संयुक्त संचालक, शिक्षा विभाग उज्जैन संभाग