Loading...

वो नंबर राज्यसभा की बेवसाइट पर डाला है, कोई भी सेव कर सकता है: दिग्विजय सिंह | MP NEWS

भोपाल। भीमा कोरेगांव मामले में गिरफ्तार हुए एक सीपीआई कार्यकर्ता के पास से पुलिस को एक चिठ्ठी मिली है, जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का फोन नंबर मिला है। इस मामले में पुणे पुलिस दिग्विजय सिंह से पूछताछ भी कर सकती है।

इस बीच दिग्विजय सिंह ने इस मसले पर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि, "चिठ्ठी में जो नंबर मिलने की बात की जा रही है, वो चार साल पहले ही मैं बंद कर चुका हूं। वो नंबर राज्यसभा की वेबसाइट पर काफी समय से डला हुआ है। ऐसे में किसी के पास भी ये नंबर हो सकता है। इतना ही नहीं दिग्विजय सिंह ने भाजपा और आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि, ये मुझसे डरते हैं। अगर सरकार में हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार करके बताए।"

दरअसल भीमा कोरेगांव मामले में पेशे से वकील सुरेंद्र गाडलिंग के घर से पुलिस को 25 सितंबर, 2017 की एक चिठ्ठी मिली है। जिसे टॉप सीपीआई(माओवादी) कमांडर प्रकाश ने लिखा है। इस चिठ्ठी में लिखा है कि कांग्रेस के नेता देशभर में विरोध प्रदर्शन के लिए सीपीआई की मदद करने को तैयार हो गए हैं। इस चिठ्ठी में जिस मोबाइल नंबर का जिक्र किया गया है, वो दिग्विजय सिंह का बताया जा रहा है।