फिर उठा प्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामला, प्रियंका ने शिवराज से किया सवाल | MP NEWS

11 November 2018

भोपाल। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की प्रवक्ता श्रीमती प्रियंका चतुर्वेदी ने भाजपा एवं सीएम शिवराज सिंह चौहान पर प्रीति रघुवंशी मामले को लेकर तीखा हमला बोला है। उन्होंने पूछा है कि क्या कारण है कि प्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामले में चर्चित मंत्री रामपाल सिंह को फिर से टिकट दिया गया। 

क्या है प्रीति रघुवंशी आत्महत्या मामला
मध्यप्रदेश प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह राजपूत की बहू प्रीति रघुवंशी ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया था। इसके कारण था प्यार, शादी और धोखा। 
मंत्री के बेटे गिरजेश प्रताप सिंह ने प्रीति रघुवंशी से पहले प्यार किया, फिर आर्य समाज मंदिर में जाकर शादी कर ली। 
आरोप है कि मंत्री रामपाल सिंह ने इस शादी को ठुकरा दिया और बेटे की दूसरी शादी तय कर दी। 
इसी से दुखी होगा प्रीति ने आत्महत्या कर ली थी। 
आत्महत्या के बाद मंत्री रामपाल सिंह ने प्रीति को अपनी बहू मानने से इंकार कर दिया था। 
शादी का प्रमाण पत्र सामने आने के बाद वो चुप हो गए। 
पुलिस पर इस मामले में पक्षपातपूर्ण कार्रवाई करने का आरोप है। 
प्रीति की मौत के बाद उसके परिवार वाले सिर्फ यह चाहते थे कि मंत्री रामपाल सिंह प्रीति का अंतिम संस्कार सम्मान के साथ कर दें। 
सीएम शिवराज सिंह पर आरोप है कि उन्होंने मामले में मंत्री का साथ दिया और इसीलिए पुलिस ने पक्षपात किया। 
कहा जाता है कि प्रीति के परिवार वालों पर भारी दवाब बनाया गया ताकि वो पुलिस में किसी तरह का अप्रिय बयान ना दें। बाद में परिवार वालों ने शिकायत वापस ले ली। 

प्रवक्ता श्रीमती प्रियंका चतुर्वेदी ने शिवराज सिंह से सवाल पूछे
क्या कारण है कि निरंतर महिलाओं के विरूद्ध अपराध में भाजपा से जुड़े नेताओं का नाम आता है ...? 
क्या कारण है कि शिवराज जी वापस अपनी बहू प्रीति रघुवंशी की दुःखद आत्महत्या के प्रकरण में चर्चित मंत्री रामपाल सिंह को पुनः टिकट देते हैं...? 
क्या कारण है कि होशंगाबाद, सीहोर और ग्वालियर के मूक-बधिर आश्रम की छात्राओं द्वारा कांग्रेस कार्यालय में प्रेस वार्ता आयोजित कर अपने साथ हुए वीभत्स शोषण पर अपराध दर्ज करने की मांग करनी पड़ती है...? 
क्या कारण है कि शिवराज जी की सरकार के चलते, महिला अत्याचार करने वाले 100 में से 72 अपराधी बाइज्जत बरी हो जाते है...? 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->