LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें





महिला पत्रकार की लाश फ्लैट में 25 दिन तक सड़ती रही

15 October 2018

नोएडा। सेक्टर 99 में की एक पॉश सोसायटी से सनसनीखेज मामला सामने आया है। देश के प्रतिष्ठित अंग्रेजी अखबार की महिला पत्रकार की संदिग्ध मौत हो गई। उसका शव उसी के फ्लैट में करीब 25 दिन तक सड़ता रहा। जब बदबू बहुत तेज हो गई तब पड़ोसियों ने पुलिस को बुलाया। 52 वर्षीय बबीता बसु ने आखरी बार 19 सितम्बर को अपने बेटे से बात की थी और 20 सितम्बर शाम 6 बजे उन्होंने फेसबुक पर अपनी लास्ट पोस्ट डाली। पीएम रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगा कि उनकी मौत बीमारी के कारण हुई या कोई दूसरी बात थी।  

फ्लैट से बदबू आने पर पड़ोसियों ने पुलिस को दी सूचना
उन्होंने बेटे को अपनी खराब तबियत के बारे में बताते हुए देखभाल के लिये बुलाया था, लेकिन काम की व्यस्तता की वजह से वह अब तक नहीं आ सका। फ्लैट में अकेली रह रही महिला ने अकेलेपन और देखभाल न होने की वजह से करीब 25 दिन पहले दम तोड़ दिया। फ्लैट से तेज बदबू आने पर पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची थाना सेक्टर 39 पुलिस ने फ्लैट का दरवाजा तोड़ा तो उनके भी होश उड़ गए।

फ्लैट खुलते ही पूरी सोसायटी में फैल गई शव की बदबू
फ्लैट के अंदर महिला का सड़ी-गली हालत में शव पड़ा हुआ था। फ्लैट खुलते ही शव की बदबू पूरी सोसायटी में दूर-दूर तक फैल गई। दूर-दूर तक सोसायटी में रह रहे लोगों के लिए घंटों सांस लेना दूभर हो गया था। तेज बदबू के कारण फ्लैट से शव निकालने के लिए पुलिस को भी कुछ देर तक इंतजार करना पड़ा। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

बीमारी की वजह से पति से हुआ था तलाक
जानकारी के मुताबिक महिला मूलरूप से पश्चिम बंगाल की रहने वाली थी। उनका तीन साल पहले पति से तलाक हो गया था। बताया जा रहा है कि इसी बीमारी की वजह से पति से उनका तलाक हो गया था। इसके बाद उनके पति पश्चिम बंगाल में रहने चले गए थे। पति के तलाक देने और बेटे के बैंगलुरू में नौकरी करने की वजह से वह नोएडा के सेक्टर-99 स्थित अपने फ्लैट में अकेली रह रहीं थीं।

समय पर नहीं करा पाती थीं डायलिसिस
इनका एक बेटा है, जो सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और बैंगलुरु में नौकरी करता है। बताया जा रहा है कि महिला को किडनी की समस्या थी। इसके चलते वह कई साल से परेशान थीं। उनका हर सप्ताह डायलिसिस होता था। इसमें उनका खून बदला जाता था। इतनी बीमार होने के बावजूद उन्हें अस्पताल तक ले जाने वाला कोई नहीं था। इसलिये कई बार डायलिसिस समय पर नहीं हो पाती थी।

बेटे ने दीपावली पर आने की बात कह काट दिया था फोन
19 सितंबर को उन्होंने बेटे से बात की और बताया था कि अब उनकी तबियत पहले से अधिक खराब हो गई है। वह अकेले दवा आदि नहीं ले पा रही हैं। इसलिये उन्होंने बेटे को घर बुलाया था। वहीं उनके बेटे ने काम की व्यस्तता की बात बता, दीपावली में घर आने की बात कहकर फोन काट दिया था। इसकी पुष्टि महिला के पास से बरामद मोबाइल फोन के कॉल रिकॉर्ड से भी हुआ है।

पुलिस ने बुलाया तब आया बेटा
पड़ोसियों की माने तो पिछले 25 दिनों से महिला को घर के बाहर नही देखा गया है। पुलिस का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम से पता चलेगा कि महिला की मौत कब और कैसे हुई है। उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उनका बेटा भी बैंगलुरु से आ गया है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

;
Loading...

Suggested News

Popular News This Week

 
-->