MPPSC घोटाले वाली डायरी में मिले नाम, जो पैसे देकर अधिकारी बन गए

25 August 2018

भोपाल। व्यापमं घोटाले के सूत्र संचालक डॉ. जगदीश सागर की डायरी के कई रहस्य अब भी बाकी हैं। बताया गया है कि डायरी में 'मामाजी' और 'वीआईपी' समेत कई ऐसे नाम दर्ज हैं जिन्होंने शिवराज सिंह सरकार की नींद उड़ा दी है। आरोप है कि लोगों से पैसे लेकर उन्हे MPPSC की परीक्षा में पास करवाया गया और वो राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी बनकर नौकरियां कर रहे हैं। 

डॉ. सागर की डायरी में पीएससी और व्यापमं परीक्षा से होने वाली ड्रग इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा पास कराने के लिए होने वाले सौदों में कई नाम दर्ज हैं। इनमें श्रद्धा सोनी पिता प्रदीप सोनी, विशाल सोनी (हेमंत सोनी) (ईशान) के साथ 20-20 लाख रुपए में डिप्टी कलेक्टर पद के लिए सौदा होने की बात लिखी है। इसी तरह मुकेश, अमर यादव और कैशव चौधरी से पुलिस के लिए सौदा किया है। 

सत्यनारायण मालवीय के साथ वाणिज्यिक कर अधिकारी पद के लिए, दिलीप चोपड़ा के साथ मुख्य कार्यपालन अधिकारी पद के लिए, अंशुल तिवारी पिता देवेंद्र तिवारी के साथ ड्रग इंस्पेक्टर परीक्षा के लिए, भारत सिंह मुजाल्दे पिता घमर सिंह मुजाल्दे के साथ आबकारी निरीक्षक पद के लिए, बालचंद देवड़ा के साथ वाणिज्यिक कर अधिकारी पद के लिए सौदे की बात लिखी गई है। पीएससी पद के सौदे 10 से 20 लाख और व्यापमं परीक्षा वाले चार से दस लाख के बीच के लिखे हुए हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week

Revcontent

Popular Posts