MPPSC: दलितों में कर दिया भेदभाव, 234 नंबर वाले चयनित, 268 वाले वेटिंग में | NEWS

24 August 2018

भोपाल। असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में MPPSC के रिजल्ट को लेकर गड़बड़ी की शिकायत बढ़ती ही जा रही है। सोशियोलॉजी में चयनित अभ्यर्थी का नाम वेटिंग लिस्ट में भी डाले जाने के बाद अब एक नया मामला सामने आया है। जारी हुए रिजल्ट में कम नंबर वाली 2 SC अभ्यर्थियों का चयन कर लिया गया है। जबकि उससे ज्यादा नंबर वाली SC अभ्यर्थी का चयन नहीं किया गया है। इस मामले में दिनेश जैन, परीक्षा नियंत्रक, MPPSC का कहना है कि फिलहाल इस संबंध में ठोस जानकारी नहीं है, कोई लिखित में शिकायत करता है तो उसका निराकरण किया जाएगा। 

SC दुर्गेश नंदिनी गायकवाड़ के 268 नंबर है और वे अतिथि विद्वान के रूप में सेवाएं भी दे रही हैं। लेकिन उनका चयन अर्थशास्त्र में नहीं हुआ है। वहीं 252 अंक वाली SC अभ्यर्थी रेखा वर्मा और 234 अंक प्राप्त करने वाली निशा मेहर का चयन असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए हो गया है। इससे पहले जारी हुए रिजल्ट में टी एक्का नाम के अभ्यर्थी का नाम सोशियोलॉजी में सिलेक्शन लिस्ट में भी था और उन्हें वेटिंग लिस्ट में भी डाल दिया गया था।बता दें कि आरटीआई कार्यकर्ता विनय परिहार ने बताया कि सहायक प्राध्यापक भरती में बड़े पैमाने में फर्जीवाड़ा किया जा रहा है। तीन विषयों में शत प्रतिशत पद आरक्षित श्रेणी से भर दिया गया है।

सीएम से होगी शिकायत
MPPSC के रिजल्ट में गड़बड़ी की शिकायत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पीएससी चैयरमेन से होगी। वंचित अतिथि विद्वान दुर्गेश नंदिनी गायकवाड़ के अलावा शहडोल की एक अभ्यर्थी के साथ भी इस तरह की गड़बड़ी हुई है। दोनों ही साथ में मामले की शिकायत करेंगी। रिजल्ट में गड़बड़ियां उजागर होने से मामला कोर्ट भी पहुंच सकता है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week