एक बूंद बारिश नहीं हुई, पूरा गांव पानी में डूब गया, प्रशासन रेस्क्यू करने को तैयार नहीं | MP NEWS

22 August 2018

पन्ना। तेज बारिश से प्रदेश के कुछ हिस्सों में बाढ़ जैसे हालात हैं, लेकिन जिले में एक ऐसा गांव है, जहां बिना बारिश के ही गांव पानी में डूबा गया। मामला जिले के इटवां खास गांव का है। जहां एक डेम में दरारें पड़ने से पानी फूट पड़ा और गांव में बाढ़ के हालात बन गए। पूरा गांव जलमग्न हो गया। ग्रामीण फंसे हुए हैं राहत शिविर की मांग कर रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि कलेक्टर ने उन्हे टाल दिया। मंत्री ने भी आश्वासन ही दिया। 

नया बना था डेम, फूट गया
दरअसल गांव के पास सिरस्वहा डेम का निर्माण किया गया था, जिसमें दरारें पड़ने से डेम का पानी बाहर निकला और गांव को ले डूबा। गांव में हालात ये हैं कि ना तो स्कूली बच्चे स्कूल पहुंच पा रहे हैं और ना ही ग्रामीण मरीजों को लेकर अस्पताल। ग्रामीणों ने मुआवजे सहित उन्हें कहीं और राहत शिविर में पहुंचाने की मांग की है। 

निर्माण के समय भी की थी भ्रष्टाचार की शिकायत
डेम के निर्माण के समय ग्रामीणों ने डेम के निर्माण में अनियमितता और भ्रष्टाचार की शिकायत भी की थी लेकिन, प्रशासनिक लापरवाही के चलते डेम की सुध नहीं ली गई। यही वजह रही की नव निर्माण डेम में जल्द ही दरारे पड़ गईं और गांव में बिन बारिश के ही बाढ़ जैसे हालत बन गए।

मदद मांगने आए ग्रामीणों को कलेक्टर ने टाल दिया
वहीं शिकायत लेकर कलेक्टर के पास पहुंचे ग्रामीणों की बात को टाल दिया गया। इसके बाद एक कार्यक्रम में जा रही जेल एवं पीएचई मंत्री कुसुम सिंह महदेले का रास्ता रोकर ग्रामीणों ने आपबीती सुनाई, जिस पर मंत्री ने ग्रामीणों को मुआवजे का आश्वासन देते हुए जिला प्रशासन को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week