JABALPUR सेंट फ्रांसिस स्कूल में नहीं मनाया गया स्वतंत्रता दिवस समारोह, हंगामा | MP NEWS

जबलपुर। मिशनरी स्कूल सेंट फ्रांसिस स्कूल में स्वतंत्रता दिवस समारोह नहीं मनाया गया। पालकों ने हंगामा किया और स्कूल ने अपनी गलती लिखित में स्वीकार की है। प्रशासन ने अब तक स्कूल के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। स्कूल ने कारण बताया है कि उन्होंने खराब मौसम और मैदान में पानी भरे होने के कारण समारोह नहीं मनाया परंतु क्या इसके लिए कलेक्टर से अनुमति ले ली गई थी, यह जानकारी नहीं दी गई है। स्कूल ने 15 अगस्त 2018 को अवकाश घोषित कर दिया है। 

रांझी क्षेत्र स्थित सेंट फ्रांसिस स्कूल के देश की स्वतंत्रता दिवस जैसे सबसे बड़े राष्ट्रीय पर्व पर छात्रों के अभिभावक बेहद आक्रोशित हो गए और उन्होंने गुरूवार को स्कूल पहुंचकर प्रबंधन के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। उन्होंने स्कूल पहुंचकर प्रिंसिपल से इन सभी बातों पर स्पष्टीकरण मांगा। यही नहीं उन्होंने प्रिंसिपल से दोबारा ऐसा न करने के लिए लिखित में माफीनामा भी मांगा। स्कूल की तरफ से लिखित स्पष्टीकरण भी जारी किया गया है। 

अपराध छुपाने स्कूल की बेतुकी दलील
यह देशद्रोह का मामला है। एक गंभीर आपराधिक प्रकरण। स्कूल के सबसे जिम्मेदार अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया जाना चाहिए। स्कूल की मान्यता समाप्ति की कार्रवाई होनी चाहिए। स्कूल के लेटरपेड पर प्राचार्य की सील व हस्ताक्षर के साथ थाना प्रभारी को जानकारी दी गई है कि स्कूल के मैदान में पानी भरा होने के कारण अवकाश घोषित कर दिया गया था। यह दलील स्वीकार्य नहीं हो सकती। संबंधित थाना प्रभारी क्षमा दान देने का अधिकार नहीं रखते। जबलपुर एसपी या किसी अन्य अधिकारी को भी इस मामले में क्षमा करने का अधिकार नहीं है। देखना यह है कि उच्च स्तर पर इस मामले में क्या निर्णय लिया जाता है। 
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com