सेप्टिक टैंक में मिला बच्ची का शव,पूरा गांव गवाही देने तैयार | JABALPUR CRIME NEWS

जबलपुर। कटंगी में बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में बच्ची की तलाश के लिए जब एसपी अमित सिंह, एएसपी ग्रामीण रायसिंह नरवरिया, कटंगी टीआई और एसआई नन्हेलाल रजक और डीएसपी एफएसएल डॉ. नीता जैन स्टाफ के साथ आरोपित के घर पहुंचे और तलाश शुरू की। पुलिस को देखकर ग्रामीणों का हुजूम लग गया। ग्रामीण भी बच्ची की तलाश में जुट गए। यह देखकर एसपी ने कहा कि जिसने भी बच्ची को तलाशा उसे पांच हजार का नकद इनाम दिया जाएगा। कुछ देर बाद एसआई नन्हेलाल रजक और स्टाफ आरोपित के घर के बाहर बने सेप्टिक टैंक के पास पहुंचे और उसे हटाया। जिसके अंदर बच्ची का शव मिला।

कटंगी में बच्ची का शव मिलने के बाद पुलिस ने लिखापढ़ी शुरू की। इस दौरान गवाहों की आवश्यकता पड़ी। जैसे ही पुलिस ने पूछा कि गवाही कौन देगा? तभी गांव के सैकड़ों लोगों ने कहा कि साहब हम देंगे गवाही। कुछ भी हो जाए आरोपित बचना नहीं चाहिए। गांव में ऐसी हरकत करने वाले को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। इसके बाद जिन व्यक्तियों ने बच्ची को आरोपित के साथ बाइक में घूमते हुए देखा था ऐसे लगभग 10 लोगों ने गवाही दी। जिससे पुलिस अपनी कार्रवाई जल्द करें और आरोपित को जल्द सजा मिल सके। 

बच्ची का शव मिलने के बाद पुलिस आरोपित को उसके घर ले गई। जहां ग्रामीण एकत्रित ही थे, तभी एसपी अमित सिंह ने आरोपित के पिता को कहा कि यदि अच्छी शिक्षा दी होती, तो तुम्हारा बेटा ऐसा नहीं करता। यह सुनते ही आरोपित के पिता ने उसे तीन चार थप्पड़ मार दिए। हालांकि पुलिस ने उसे रोककर अलग कर दिया।

जन्मदिन की तैयारी कर रहे थे परिजन -

बच्ची के परिजन की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। लेकिन घर में सबसे छोटी होने के कारण बच्ची के परिजन मंगलवार 21 अगस्त को अपनी बेटी के जन्मदिन के लिए जो हो सकता था वह करने की कोशिश कर रहे थे। बच्ची के माता पिता मजदूरी करते हैं। रविवार की शाम वह दोनों मजदूरी करके लौटे और फिर अपनी बेटी की तलाश करना शुरू किया। लेकिन उनकी बच्ची नहीं मिली। जब उन्हें पूरे मामले की जानकारी मिली, तो वह सदमे में आ गए। वहीं उसकी मां अर्द्बबेहोशी की हालत में थी, जिसे गांव की महिलाओं ने संभाला।

डीएसपी एफएसएल डॉ. नीता जैन ने बताया कि आरोपित के घर से जांच के दौरान गद्दे, चादर और कपड़े जब्त किए गए। सभी जब्त किए सामान में खून के दाग लगे हुए है। इसे डीएनए के लिए भेजा जा रहा है। इस रिपोर्ट को सबूत के तौर पर न्यायालय में पेश किया जाएगा।

आरोपित ने घंटों गुमराह किया। उसके घर की तलाशी लेने पर अहम जानकारी मिली। आरोपित के घर की तलाशी लेने पर बच्ची का शव सेप्टिक टैंक में मिला। मामले में जल्द चालान पेश करने के निर्देश दिए गए है।