शिवराज सिंह की चप्पलों से कैंसर का खतरा, 10 लाख आदिवासी खतरे में | MP NEWS

25 August 2018

भोपाल। सीएम शिवराज सिंह ने पिछले दिनों बड़े ही धूमधाम के साथ 10 लाख आदिवासियों को चरणपादुकाएं पहनाईं थी। हर कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह ने महिलाओं को अपने हाथों से चप्पलें पहनाईं। इसके साथ उन्हे साडिय़ां और पानी की बोतल भी दी गईं थी। अब खबर आ रही है कि सीएम शिवराज सिंह ने जो चप्पलें दीं हैं उनसे कैंसर का खतरा है। केन्द्रीय चर्म अनुसंधान संस्थान चेन्नई, तमिल नाडु के अनुसंधान में यह खुलासा हुआ है। यानि मप्र के 10 लाख आदिवासी खतरे में हैं। उन्हे कैंसर हो सकता है। 

बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह सरकार की ओर से दिए गए जूते-चप्पलों में कैंसर पैदा करने वाला रसायन AZO पाया गया है। जबकी देश में 23 जून 1997 से यह रसायन प्रतिबंधित है। इस रिपोर्ट के खुलासे के बाद मध्यप्रदेश में हड़कंप मच गया है। मप्र लघु वनोपज संघ ने भी चुप्पी साध रखी है। भाजपा बैकफुट पर है और कांग्रेस हमलावर हो गई है। जांच रिपोर्ट में ये भी खुलासा हुआ है कि जूते-चप्पलों के इनर सोल में एजेडओ रसायन है, जिससे त्वचा कैंसर होने का खतरा बना रहता है। हैरानी की बात ये है कि अब तक सरकार 10 लाख आदिवासियों को ये जूते-चप्पल दे चुकी है। इसके अलावा 11 लाख जोड़े अभी भी स्टॉक में रखे हुए हैं, हालांकि खुलासे के बाद अब इनका वितरण रोक दिया गया है।

इन्हें बनाने वाली कंपनी को स्टॉक में रखे माल को वापस लेने का निर्देश दिए गए है, लेकिन, कंपनी ने इससे इनकार कर दिया है। इसके अलावा अब तक जिन्हें ये जूते-चप्पल दिए गए है, उनसे भी इन्हें वापस लेना सरकार के लिए एक बड़ी चुनौती साबित हो सकता है। ऐसा करने पर वनोपज संघ को हितग्राहियों के घर-घर जाना होगा। यह भी तय नहीं है कि वे जूते-चप्पल वापस करेंगे या नहीं। यदि कैंसर का खतरा बताकर जूते-चप्पल वापस लिए जाते हैं तो हितग्राहियों में सरकार के खिलाफ नाराजगी बढ़ सकती है। 

कैसे हो सकता है कैंसर
यदि आदिवासी के पांव में कांटा लग गया या किसी और वजह से पांच चोटिल हो गया अथवा पांव में छाला पड़ गया है और वह इस चप्पल को पहनता है तो कैंसर पैदा करने वाला रसायन आदिवासी के खून में शामिल हो जाएगा और खतरा पैदा कर देगा। पसीना आने पर भी यह रसायन त्वचा में जा सकता है। नतीजन त्वचा का कैंसर होने की आशंका ज्यादा रहती है। छह माह में असर नजर आता है।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week