BHOPAL: फटे कपड़ों में महिला गृहमंत्री के बंगले में घुसी, पुलिस पर लगाए आरोप | MP NEWS

06 July 2018

भोपाल। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह के सरकारी अवास पर आज अचानक हंगामा हो गया। एक महिला फटे हुए कपड़ों में सीधे घुसते हुए चली आई। वो गृहमंत्री से मिलना चाहती थी परंतु गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह मौजूद नहीं थे। बाद में उसे पुलिस पकड़कर ले गई। महिला का आरोप है कि वो अपने पति के साथ इलाज कराने के लिए ला रही थी कि तभी गृहमंत्री के बंगले से 50 मीटर दूर लगे चेकिंग पॉइंट पर पुलिस ने उन्हे रोक लिया। पुलिस पैसे मांग रही थी। चैकिंग में तैनात पुलिसकर्मियों ने ही उसके साथ छेड़छाड़ की और कपड़े फाड़ दिए। हबीबगंज पुलिस ने दंपती के खिलाफ ही शासकीय कार्य में बाधा का केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने बताई यह कहानी
टीआई हबीबगंज वीरेंद्र चौहान के मुताबिक शुक्रवार दोपहर 12:30 बजे हबीबगंज थाने की एफआरवी इलाका भ्रमण में थी। गृहमंत्री के बंगले के पास एफआरवी में तैनात आरक्षक रतीराम साहू ने बगैर नंबर की बाइक चला रहे एक युवक को रोका तो वह भागने लगा। बाइक कोलार निवासी 24 वर्षीय विनय कश्यप चला रहा था। उसके खिलाफ कोलार थाने में पहले भी कई केस दर्ज हो चुके हैं। पुलिस के रोकते ही उसने हंगामा शुरू कर दिया। उसके साथ एक महिला भी थी। उसने भी हंगामा करना शुरू कर दिया। उसे हंगामा करते देख पुलिस की एक टीम विनय को थाने ले आई, जबकि महिला स्टाफ ने हंगामा कर रही महिला को हिरासत में ले लिया।

हम इलाज कराने जा रहे थे पुलिस ने कपड़े फाड़ दिए: महिला ने कहा
महिला ने आरोप लगाया कि पुलिसकर्मियों ने उन्हें जबरन पकड़कर आरोपी बनाया है। वह अपने पति के साथ जेपी अस्पताल जा रही थी। इसी दौरान चार इमली के पास पुलिसकर्मियों ने हमें पकड़ लिया और पैसे मांगने लगे। विरोध करने पर विनय से मारपीट की और मेरे कपड़े फाड़ दिए। उनसे बचते हुए मैं गृहमंत्री के बंगले पहुंच गई, लेकिन वे थे ही नहीं। मेरे पति पर मैंने ही मारपीट का मामला दर्ज कराया था, अब उन पर कोई केस नहीं बचा। पति को मिर्गी के दौरे पड़ते हैं, जिसके इलाज के लिए हम जेपी अस्पताल जा रहे थे।

आपसे क्या बात करूं, आप भी तो पुलिस वाले हो: महिला ने टीआई से कहा
इस पूरे घटनाक्रम के दौरान टीआई पेशी में कोर्ट में थे। सूचना मिलते ही वे थाने पहुंच गए। महिला के छेड़छाड़ के आरोप होने के चलते टीआई ने उसे कुर्सी पर बैठने को कहते हुए अपनी बात रखने को कहा। इस पर महिला बोली - आप तो पुलिस वाले हो। आप तो खुद ही रक्षक से भक्षक हो गए हो। आपसे क्या बात करूं। मुझे कोई बात नहीं करनी।

आप 3 हजार रुपए मांग रहे हो, मैं नहीं दूंगा
पुलिस ने जब विनय को पूछताछ के लिए रोका तो उसने पुलिस को देखते ही मोबाइल फोन जमीन पर पटक दिया। बोला - मैं पैसे नहीं दूंगा। आप लोग तीन हजार रुपए मांग रहे हो। मैं नहीं दूंगा। इसके बाद वह जमीन पर लेट गया। फिर उठा और दौड़ लगा दी, पत्थर पर भी लेटा। बाद में रतीराम ने अतिरिक्त फोर्स बुलाकर उसे पकड़ लिया।
मध्यप्रदेश और देश की प्रमुख खबरें पढ़ने, MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Advertisement

Popular News This Week