Loading...

विधानसभा में गूंजा छतरपुर का रेत माफिया राज

भोपाल। छतरपुर में रेत माफिया की सत्ता और माफियाओं के बीच गैंगवार किसी से छिपी नहीं है परंतु अब यह 2 राज्य सरकारों के बीच का मुद्दा बन गया है। विधानसभा में यह मामला गूंजा और तय किया गया कि एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखेंगे कि वो यूपी के रेत माफिया पर लगाम लगाएं ताकि वो एमपी में आकर अवैध रेत उत्खनन ना करें। यह मामला तब बढ़ गया था जब केन नदी के बंटवारे के लिए अधिकारियों ने प्रशासनिक कार्रवाई शुरू की। यूपी के माफिया ने अफसरों पर फायरिंग खोल दी। बाद में पता चला कि एमपी के अधिकारी भी गलत कर रहे थे। उनके खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई शुरू की गई है। 

UP के रेत माफिया MP में खनन क्यों कर रहे हैं: विधायक आरडी प्रजापति
विधानसभा में इस मामले पर BJP के ही विधायक आरडी प्रजापति ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर आरोप लगाया कि वहां के खनन माफियाओं का कारोबार एमपी में चल रहा है। बताया जा रहा है कि प्रदेश में एक लाख करोड़ से ज्यादा का अवैध खनन हो रहा है और इसमें बहुतायत की संख्या में उत्तर प्रदेश के खनन माफिया सक्रिय हैं। यह भी बताया जा रहा है कि खनन माफिया फायरिंग कर अफसरों को दबाने का काम करते हैं।

केन नदी की रेत पर होती है ​गैंगवार
दरअसल, मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की सीमा पर बहने वाली केन नदी की रेत पर माफियाओं के बीच गैंगवार अक्सर होती रहती है। सूत्रों का कहना है कि यूपी का रेत माफिया, एमपी के अवैध रेत उत्खनन करने वाले बदमाशों से कहीं ज्यादा ताकतवर है। इतना ही नहीं, इधर पुलिस और प्रशासन एमपी के माफिया को सपोर्ट करता है तो उधर यूपी पुलिस भी अपने माफिया के साथ खड़ी नजर आती है। कानून का खुलेआम उल्लंघन दोनों तरफ से जारी है। इसी तरह की खबरें नियमित रूप से पढ़ने के लिए MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com