काश्मीर: रमजान फीके और ईद खूनी हो गई | EDITORIAL

15 June 2018

राकेश दुबे@प्रतिदिन। अब भारत सरकार और काश्मीर सरकार कितने ही मर्सिये पढ़े आतंकवादियों ने काश्मीर शांति की अपील नहीं मानी और रमजान फीके हो गये। देश में ईद का चाँद दिखा नहीं, लेकिन काश्मीर में ईद खूनी हो गई। वरिष्ठ पत्रकार व अंग्रेजी अखबार राइजिंग कश्मीर के मुख्य संपादक शुजात बुखारी तथा उनके पीएसओ की आतंकियों ने सोमवार की शाम हत्या कर दी। सरकारें रस्म अदायगी में शोक व्यक्त कर रही है। इसके अलावा सरकारों के हाथ में कुछ बाकी बचा ही कहाँ है?

शुजात बुखारी इफ्तार के बाद शाम सात बजे प्रेस इन्क्लेव से अपने घर खाना खाने जाने के लिए  अपनी गाड़ी में बैठ रहे तभी आतंकियों ने गाड़ी को घेरकर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं। इसके बाद आतंकी मौके से फरार हो गए। बताते हैं कि चार आतंकियों ने बिल्कुल करीब से गोलियां बरसाईं। सूत्रों ने यह भी बताया कि आतंकी अपने साथ पीएसओ की हथियार भी ले गए हैं। घटना के बाद शुजात तथा उनके पीएसओ को एसएमएचएस अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने मृत लाया घोषित कर दिया। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया कि यह कायराना हरकत है। यह कश्मीर की स्वस्थ आवाज को दबाने का बी प्रयास है। वह निर्भिक पत्रकार थे। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने घटना पर शोक जताते हुए ट्वीट किया कि वह इस प्रकार की हिंसा की निंदा करती हैं और परिवार के  प्रति गहरी संवेदना जताते हैं। ईद की पूर्व संध्या पर आतंक का कुरुप चेहरा सामने आया है। पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी ट्वीट कर कहा कि वह इस घटना से हतप्रभ हैं।ये सब रटे-रटाये संदेश हैं जो आना ही थे। घटना से चार घंटे पहले शुजात बुखारी ने रीट्वीट किया था कि भारत ने कश्मीर पर यूएन रिपोर्ट को खारिज कर दिया है। सूत्रों का कहना है कि पुलिस हमले के सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर जांच कर रही है। इस ट्वीट को भी जांच के बिंदु के रूप में शामिल किया गया है।

शुजात की हत्या पर लश्कर के प्रवक्ता डा. अब्दुल्ला गजनवी ने भी शोक संदेश जारी किया है। प्रशासन की सुई लश्कर की तरफ भी है। कुछ भी साफ़ नहीं दिख रहा है, सिवाय इसके कि केंद सरकार और राज्य सरकार की रमजान में शांति की अपील ख़ारिज हुई और आतंकवादी अपने खेल खेलते रहे। काश्मीर के हालत पर आती खबरे अत्यंत गंभीर है, पकिस्तान इस खेल अपनी भूमिका खुलकर निभा रहा है। सरकारों को कुछ ऐसा करना चाहिए कि ईद की रौनक न सही, शांति की शीतलता का अहसास काश्मीर कर सके।
देश और मध्यप्रदेश की बड़ी खबरें MOBILE APP DOWNLOAD करने के लिए (यहां क्लिक करेंया फिर प्ले स्टोर में सर्च करें bhopalsamachar.com
श्री राकेश दुबे वरिष्ठ पत्रकार एवं स्तंभकार हैं।
संपर्क  9425022703        
rakeshdubeyrsa@gmail.com
पूर्व में प्रकाशित लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए
आप हमें ट्विटर और फ़ेसबुक पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->