निचले स्तर की धमकी भरी भाषा बोलते हैं पीएम मोदी: मनमोहन सिंह टू राष्ट्रपति

14 May 2018

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखी। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी कांग्रेस और दूसरी पार्टियों के नेताओं के लिए अनचाही और धमकीभरी भाषा का इस्तेमाल करते हैं। इसके लिए उन्हें सावधान किया जाए। यह प्रधानमंत्री पद की गरिमा के खिलाफ है। बता दें कि मनमोहन सिंह पिछले हफ्ते भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीरव मोदी के विदेश भागने और नोटबंदी के फैसले को लेकर मोदी पर निशाना साध चुके हैं।

मोदी सरकार का मिस मैनेजमेंट साफ दिख रहा: सिंह

7 मई को मनमोहन सिंह ने कहा था, 'नोटबंदी और जीएसटी से ग्रामीण अर्थव्यवस्था और आम आदमी को नुकसान पहुंचा। पेट्रोल की ऊंची कीमतों ने हालात को बदतर बना दिया। लगातार टैक्स बढ़ाकर भाजपा सरकार ने आम लोगों की कीमत पर बढ़ी तेल कीमतों से 10 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है। सरकार का मिसमैनेजमेंट साफ तौर पर झलक रहा है।'

'मोदी सरकार के आर्थिक प्रबंधन से आम जनता बैंकिंग व्यवस्था पर अपना भरोसा खो रही है। हाल की घटनाओं से हुई कैश की किल्लत को कई राज्यों में रोका जा सकता था। हमारे प्रधानमंत्री दावोस में नीरव मोदी के साथ थे। कुछ ही दिन बाद नीरव मोदी देश छोड़कर भाग गया। इसी से मोदी सरकार के वंडरलैंड में हो रही दुखद चीजों की झलकी मिलती है। जहां तक नीरव मोदी का सवाल है, यह जाहिर है कि 2015-16 तक कुछ न कुछ चल रहा था। लेकिन मोदी सरकार ने कुछ नहीं किया। अगर किसी पर दोष मढ़ना होगा तो वह मोदी सरकार ही होगी।'

मुश्किल दौर से गुजर रहा देश

जिस तरह नरेंद्र मोदी हर दिन अपने विरोधियों के खिलाफ बातें कहने के लिए अपने पद का इस्तेमाल कर रहे हैं, वैसा दुरुपयोग किसी प्रधानमंत्री ने नहीं किया। इतने निचले स्तर पर चले जाना प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता। यह देश के लिए भी ठीक नहीं है। उन्होंने कहा 'लगातार टैक्स बढ़ाकर भाजपा सरकार ने आम लोगों की कीमत पर बढ़ी तेल कीमतों से 10 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है। आज हमारा देश बेहद मुश्किल दौर से गुजर रहा है, हमारे किसानों को संकट का सामना करना पड़ रहा है।

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Loading...

Popular News This Week

 
-->