घर चलाने के लिए सेल्सगर्ल बन गई, फिर भी 12वीं में टॉपर | डिंपल कुमावत

14 May 2018

इंदौर। पिछले दो सालों से घर खर्च और अपनी पढ़ाई के पैसे जुटाने के लिए नौकरी कर रही इंदौर की डिंपल कुमावत ने एमपी बोर्ड की 12वीं कॉमर्स की परीक्षा में 500 में से 470 अंक लाकर प्राविणय सूचि में छंटवा स्थान प्राप्त किया है। जनता क्वार्टर में रहने वाली डिंपल परदेशीपुरा स्थित एक कपड़े की दुकान में काम करती है। उसके पास कोचिंग जाने के लिए ना तो पैसे हैं, ना ही समय लेकिन वो कलेक्टर बनना चाहती है। अभी से संघ लोक सेवा आयोग की तैयारियां शुरू कर रही है। 

पिंक फ्लॉवर स्कूल में 12वीं की स्टूडेंट डिंपल की मां दृष्टिबाधित है जबकि पिता सिलाई का काम करते हैं। आर्थिक समस्या के चलते डिंपल अपने स्कूल की फीस भी नहीं भर सकी थी। डिंपल का पढ़ाई के प्रति लगन और मेहनत को देखते हुए स्कूल ने भी उसकी मदद की और उसका राेल नंबर जारी किया। बगैर कोचिंग के यह सफलता पाने वाली डिंपल का सपना कलेक्टर बनने का है।

सीएम शिवराज सिंह एवं कमलनाथ ने दी बधाई
सीएम शिवराज सिंह ने कहा इस वर्ष 10वीं-12वीं का परिणाम पिछले वर्ष की तुलना में बेहतर आया है इसके लिए सभी विद्यार्थियों, माता-पिता और शिक्षकगण को शुभकामनाएँ, आप सभी के सम्मिलित प्रयासों का फल है यह परिणाम। कमलनाथ ने लिखा: आज घोषित माध्यमिक शिक्षा मंडल के हाईस्कूल व हायर सेंकडरी के परिणामों में सफलता पाने वाले सभी विद्यार्थियों को शुभकामनाएँ। आप जीवन के प्रगति के पथ पर इसी प्रकार परिश्रम,लगनशीलता से अग्रसर रहे।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week