मंडला में स्टॉप डेम घोटाला: 93 डेमों में दरवाजे ही नहीं लगाए

Thursday, September 28, 2017

मंडला। मध्य प्रदेश के मंडला जिले में खेतों की सिंचाई के नाम पर स्टॉप डेम घोटाला किए जाने का मामला सामने आया है। जलसंसाधन विभाग द्वारा नियम कायदों को ताक में रखकर बबेहा से पौंडी ग्राम के बीच महज 13 किलोमीटर की दूरी में 93 स्टॉप डेमों का निर्माण कराया गया है। सबसे खास बात यह है कि 93 में किसी भी एक स्टाप डेम में जल संरक्षण के लिये गेट नहीं लगाए गए हैं।

गेट नहीं लगाए जाने से किसान पानी का उपयोग खेतों की सिंचाई में नहीं कर पा रहे हैं, किसान और स्थानीय जनप्रतिनिधि जलसंसाधन विभाग और जिलाप्रशासन से स्टाप डेम में गेट लगाने की शिकायत करते करते थक चुके हैं वहीँ जलसंसाधन विभाग के अधिकारी गोलमोल जवाब देकर अपनी जवाबदारियों से पल्ला झाड़ते नजर आ रहे हैं।

एक तरफ अल्पवर्षा के चलते मंडला जिला सूखे की चपेट में है, जल संरक्षण के लिए जिला प्रशासन द्वारा तमाम दावे और प्रयास किए जा रहे हैं। अल्पवर्षा के बावजूद भी जिले में पानी की कोई कमी नहीं है, लेकिन जल ही जीवन है का नारा देने वाले जल संसाधन विभाग की लापरवाही और मनमानी के चलते प्राकृतिक बारिश पर आश्रित रहने वाले किसान सूखे के संकट से जूझने को मजबूर हैं।

बता दें कि जल संसाधन विभाग द्वारा अरबों खरबों की राशि खर्च कर हजारों छोटे बड़े स्टॉप डेम बनाकर जिले के बड़े रकबे को सिंचित करने का दावा किया जाता है लेकिन हकीकत यह है कि खेतों की सिंचाई के नाम पर स्टॉप डेम निर्माण कर विभाग द्वारा जमकर भ्रष्टाचार किया जाता है जिसका खामियाजा जिले के किसानों को भुगतना पड़ रहा है।

और अधिक समाचारों के लिए अगले पेज पर जाएं, दोस्तों के साथ साझा करने नीचे क्लिक करें

-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

mgid

Loading...

Popular News This Week