GPF की नवीन ब्याज दर घोषित, फोर्थ क्वार्टर के लिए - Central Government Employees news

Government of India ने General provident fund के लिए New Interest rate घोषित कर दिए हैं। जीपीएफ की नवीन ब्याज दरें वित्तीय वर्ष 2022-23 की अंतिम तिमाही (1 जनवरी से 31 मार्च 2023 तक) के लिए घोषित की गई है। केंद्रीय कर्मचारियों की सामान्य भविष्य निधि में इससे पहले 7.1% थी। भारत सरकार ने इसी ब्याज दर को निरंतर रखने का फैसला किया है। 

बैंक एफडी और GPF की ब्याज दरों में अंतर 

दिनांक 1 जनवरी 2023 की स्थिति में सामान्य नागरिकों के लिए भारत के कुछ विश्वसनीय और लोकप्रिय बैंकों की ब्याज दर इस प्रकार थी। 
  • Federal Bank- 7.25% 
  • HDFC Bank 6.50% 
  • State Bank of India 6.75% 
  • ICICI Bank 7% 
  • Yes Bank 7.50% 
  • IDBI Bank FD 6.25%
  • Kotak Mahindra Bank FD 6.80%
  • RBL Bank FD  7.55%
  • KVB Bank FD 7.25%
  • Punjab National Bank FD 7.25%
  • Canara Bank FD 7.00%
  • Axis Bank FD 7.00%
  • Bank of Baroda FD 6.75%
  • IDFC First Bank FD 7.50% 

GPF क्या होता है, इससे कर्मचारी को क्या फायदा 

जनरल प्रोविडेंट फंड के तहत सरकारी कर्मचारी के वेतन से एक निर्धारित और न्यूनतम राशि की कटौती करके जमा कर ली जाती है, जो रिटायरमेंट के समय अथवा निर्धारित शर्तों के अनुसार रिटायरमेंट से पहले कर्मचारी की जरूरत पड़ने पर उसे दे दी जाती है। इसी जमा रकम पर सरकार द्वारा ब्याज दिया जाता है। सामान्य भविष्य निधि योजना में सबसे बड़ा फायदा यह है कि जितनी राशि सरकारी कर्मचारी के वेतन से काटी जाती है उसके बराबर राशि सरकार द्वारा भी उसके खाते में डिपाजिट की जाती है। अर्थात जीपीएफ कटौती के दिन कर्मचारी की रकम दोगुनी हो जाती है।