MP NEWS- प्रेमिका को सुसाइड से रोकने के लिए बेटे की हत्या कर दी

देवास।
मध्य प्रदेश के देवास जिले में एक पिता ने अपने ही बेटे को प्रेमिका के लिए मार डाला उस बेटे का कसूर इतना था कि उसने अपने पिता को चाची के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। 6 दिसंबर को हुई किशोर की जघन्य हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपित पिता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को पहले दिन से ही पिता पर शंका थी। हत्या में बाप के अवैध संबंधों का एंगल सामने आया है। पुलिस ने पिता और महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

शव झाड़ियों में पड़ा मिला

पुलिस अधीक्षक डा. शिवदयाल सिंह ने बताया कि छह दिसंबर 2022 को ग्राम बांगरदा के मेहरबान चौहान के खेत पर अज्ञात बालक का शव झाड़ियों में पड़ा मिला था। ग्रामीणों ने शव की पहचान 15 वर्षीय हरिओम चौहान पिता मोहनलाल चौहान के रूप में की। ग्रामीणों से चर्चा करने पर पता चला कि किशोर व परिवार का गांव एवं आसपास के क्षेत्र में किसी भी व्यक्ति से विवाद नहीं था। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक ने तीन विशेष टीमों का गठन किया।

एसपी के निर्देश पर पूछताछ में वैज्ञानिक तकनीक का उपयोग करते हुए प्रोलोंग्ड इंटेरोगेशन किया गया। मोहनलाल ने अपराध करना स्वीकार कर लिया। पुलिस ने इसके पहले शंका होने पर मोहन को हिरासत में लिया और उससे लगातार अलग-अलग तरीकों से पूछताछ की। सूत्रों के अनुसार पूछताछ के दौरान मोहनलाल को सोने तक नहीं दिया। टीआइ शैलेंद्रसिंह मुकाती ने बताया कि आरोपित ने पूरा घटनाक्रम विस्तार से बताया। आरोपित अपने ही घर से पांच दिसंबर की सुबह करीब तीन बजे खेत पर पानी देने का बोलकर ले गया था। घर के पास ही खेत पर उसने किशोर की हत्या की और शव को भी वहीं ठिकाने लगाया।

टीआइ के अनुसार आरोपित मोहनलाल बेटे हरिओम को अंतरसिंह बड़वाया के खेत पर लेकर गया। इसी खेत पर पानी देने का काम आरोपित करता था, वहीं बने घर की छत पर किसी बहाने से मासूम बेटे को भेजा और पीछे से जाकर उसके गले में रस्सी का फंदा डालकर खींचा। इतने पर भी वह रुका नहीं और रस्सी सरिए से बांधकर बालक को छत से नीचे लटका दिया। कुछ ही देर में उसने दराते से रस्सी काटी। इससे हरिओम नीचे गिरा। बाद में उसे मृत समझकर पास ही खुले बोरवेल के पास लेकर गया और दराते से दोनों हाथ काटकर करीब 350 फीट गहरे बोरवेल में डाल दिए। हरिओम की शर्ट भी उसने बोरवेल में डाल दी और शव को खेत के पास झाड़ियों में फेंककर सुबह 5.18 बजे आशा को फोन भी लगाया।

एसपी ने बताया कि मोहनलाल का उसके चचेरे भाई की पत्नी से अवैध संबंध था। पूछताछ में यह बात सामने आई कि हरिओम ने दो दिसंबर को इन दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था। वह इस बात का कहीं राजफाश न कर दे, इस डर से दोनों ही परेशान थे। इसके बाद से ही आशा लगातार मोहन पर हरिओम को रास्ते से हटाने का दबाव बना रही थी। आशा ने मोहन से यह तक कहा था कि यदि उसने हरिओम को रास्ते से नहीं हटाया तो वह आत्महत्या कर लेगी और आशा आत्महत्या ना कर ले इसलिए मोहन ने हरिओम को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया।  आशा को हत्या की जानकारी थी। इसके कारण पुलिस ने उसे भी आरोपित बनाकर गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने मोहन की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त रस्सी और दराता जब्त कर लिया है। उसने पूछताछ में बताया कि दराते से हाथ काटकर बोरवेल में डाल दिए थे। इसके बाद पुलिस ने बोरवेल में तलाशना शुरू किया। पुलिस ने बात को पुख्ता करने के लिए बोरवेल में रस्सी की सहायता से कैमरा डालकर देखा। इसमें पुलिस को मृतक की लाल रंग की शर्ट दिखाई दे रही है। पुलिस इसे निकालने का प्रयास कर रही है। दूसरी तरफ मोहन ने हत्या के बाद खून से सने खुद के कपड़े भी ठिकाने लगाए हैं, जिन्हें ढूंढा जा रहा है। फिलहाल दोनों आरोपित बरोठा पुलिस की गिरफ्त में हैं। उन्हें शनिवार को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड मांगा जाएगा।