MP ESB, 900 किलोमीटर दूर परीक्षा केंद्र क्यों बनाया, गलती या गड़बड़ी- NEWS TODAY

भोपाल
। मध्य प्रदेश कर्मचारी चयन मंडल द्वारा आगामी 6 नवंबर को आयोजित सब इंजीनियर परीक्षा में परीक्षा केंद्रों के निर्धारण को लेकर उम्मीदवारों की शिकायत प्राप्त हुई है। कुछ उम्मीदवारों ने भोपाल समाचार को बताया कि उनके परीक्षा केंद्र उनके निवास स्थान से 900 किलोमीटर दूर निर्धारित किए गए हैं। सवाल यह है कि क्या यह केवल कोई गलती है और इसे सुधारा जा सकता है अथवा किसी गड़बड़ी की शुरुआत की जा रही है। 

श्री शिवराज कन्नौज ने बताया कि मध्य प्रदेश के सीधी और सिंगरौली में रहने वाले उम्मीदवारों को अलीराजपुर और इंदौर जैसे शहरों में परीक्षा केंद्र दिए गए हैं। सीधी और सिंगरौली मध्य प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र में आते हैं और अलीराजपुर एवं इंदौर पश्चिमी क्षेत्र में। दोनों शहरों के बीच की दूरी लगभग 900 किलोमीटर होती है। उन्होंने बताया कि परीक्षा के 5 दिन पहले एडमिट कार्ड जारी किए गए हैं। एक तो रेलवे की सुविधा उपलब्ध नहीं है और दूसरे इतनी जल्दी किसी कनेक्टिंग ट्रेन में रिजर्वेशन में नहीं मिल रहा है। 

सवाल यह है कि परीक्षा केंद्रों का निर्धारण करने में मध्य प्रदेश कर्मचारी चयन मंडल की ओर से क्या कोई गलती हुई है, क्या उसे तत्काल सुधारा जा सकता है या फिर यह किसी बड़ी गड़बड़ी की साजिश है। एक प्लानिंग के तहत उम्मीदवारों को हतोत्साहित करने के लिए इस तरह के परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया गया है ताकि वह परीक्षा केंद्र पर उपस्थित ना हो पाए या फिर किसी प्रकार से यदि पहुंच भी जाए तो उनकी मानसिक स्थिति परीक्षा के लिए उपयुक्त ना रहे।