इंदौर से शिक्षित बेरोजगारों का पैदल मार्च भोपाल के लिए शुरू- MP NEWS

इंदौर।
रविवार 2 अक्टूबर को गांधी जयंती के अवसर पर प्रदेशभर से आए हुए हजारों शिक्षित बेरोजगारों ने समस्त प्रकार के शासकीय सेवाओं के रिक्त पदों को शीघ्र अति शीघ्र भरने की मांग को लेकर इंदौर के दीनदयाल पार्क के सामने राष्ट्रीय शिक्षित युवा संघ (एनइवाईयू) के बैनर तले गांधी जयंती मनाते हुए मध्य प्रदेश भर्ती सत्ता ग्रह के अंतर्गत इंदौर से भोपाल के लिए पैदल मार्च शुरू कर दिया है। 

अधिकतम रिक्त पदों पर भर्ती शीघ्र पूर्ण कराने की मांगों को लेकर 21 सितंबर से शिक्षित बेरोजगार दीनदयाल पार्क के सामने गांधीवादी तरीके से सत्ताग्रह आंदोलन कर रहे थे परंतु शासन-प्रशासन द्वारा अभी तक  मांगें पूर्ण ना होने पर शिक्षित बेरोजगारों ने मजबूरी बस गांधीवादी तरीके से इंदौर से भोपाल के लिए पैदल मार्च करने का निर्णय लिया है। 

 आंदोलन में सहभागिता करने वाले शिक्षक पात्रता परीक्षा संघ के प्रदेश संयोजक रंजीत गौर एवं अन्य अभ्यार्थियों के अनुसार स्थाई शिक्षक भर्ती 2018 के प्रथम चरण में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा माध्यमिक शिक्षक भर्ती में हिंदी के 100,उर्दू के 18,विज्ञान के 50 एवं सामाजिक विज्ञान के मात्र 60 पदों पर भर्ती की गई जो कि सरासर अन्याय है। 

वहीं उच्च माध्यमिक शिक्षक भर्ती के अंतर्गत हिंदी, उर्दू, कृषि, संस्कृत, भूगोल, समाजशास्त्र, राजनीति विज्ञान आदि के पद भी रिक्तियों की तुलना में कम मात्रा में दर्शाए गए हैं। कृषि विषय के अभ्यर्थियों ने कहा कि मध्य प्रदेश कृषि प्रदेश है उसके बावजूद भी कृषि विषय के नाम मात्र के पद घोषित किए गए हैं वही हिंदी विषय के अभ्यर्थियों ने कहा कि हिंदी हमारी मातृभाषा, राष्ट्रभाषा एवं राजभाषा है उसके बावजूद भी माध्यमिक शिक्षक भर्ती में मात्र 100 पद दर्शाए गए हैं जबकि अंग्रेजी के 3,358 पद दिए गए हैं। 

हम मांग करते हैं कि मातृभाषा हिंदी को सम्मान दिया जाए एवं हिंदी बिषय के साथ साथ विज्ञान, सामाजिक विज्ञान,एवं उर्दू जैसे उपेक्षित विषयों के रिक्त पदों में वृद्धि की जाए !  हालांकि शिक्षा विभाग द्वारा 30 सितंबर से द्वितीय काउंसलिंग प्रक्रिया तो शुरू कर दी गई है परंतु अभी तक रिक्त पदों को प्रदर्शित नहीं किया गया है। पात्र अभ्यर्थियों ने मांग की है कि उपेक्षित विषयों को महत्व देते हुए पदों में वृद्धि करें।