INDORE के दंपती चलती कार में जिंदा जले, पत्नी का सिर्फ कंकाल बचा

इंदौर।
मध्यप्रदेश के इंदौर निवासी एक दंपत्ति आज चलती कार में जिंदा जल गए। हादसे में पत्नी की जलकर मौत हो गई और पति 70% जल चुका है। उसे इंदौर रेफर किया गया है। हादसा रविवार दोपहर देवास के में हुआ।अचानक आग लगने से दंपती कार में फंस गए। सुनील ने किसी तरह कूदकर जान बचा ली, लेकिन उनकी आंखों के सामने ही पत्नी जिंदा जल गई।

इंदौर के रहने वाले सुनील (36) पिता चंदर सिंह चौहान, पत्नी राधाबाई के साथ शनिवार को सोनकच्छ के महुड़ी में रिश्तेदार से मिलने आए थे। यहां सुनील के जीजाजी धर्मेंद्र चौहान रहते हैं। दोनों रविवार को नैनो कार से वापस इंदौर लौट रहे थे। इसी दौरान गांव से कुछ दूरी पर दोपहर करीब 3 बजे कार में अचानक आग लग गई और देखते ही देखते कार से भीषण लपटें निकलने लगीं।

आग की लपटें इतनी भयानक थी कि राधाबाई को बाहर निकलने का मौका भी नहीं मिला। कार में राधाबाई पूरी तरह जल गईं। उनका सिर्फ कंकाल ही बचा। खोपड़ी को इंदौर फॉरेंसिक टीम को जांच के लिए भेजा जाएगा। सुनील भी करीब 70% जल गए हैं। मौके पर मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद उन्हें देवास के अस्पताल ले जाया गया, जहां से इंदौर रेफर कर दिया गया।

आसपास के लोगों ने आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन तब तक आग काबू से बाहर हो चुकी थी। देवास और सोनकच्छ से पहुंची फायर ब्रिगेड ने आग बुझाई। पुलिस के मुताबिक आग के कारणों का पता नहीं चल पाया है।भौंरासा थाना प्रभारी हितेश पाटिल ने बताया कि प्रारम्भिक जांच में आसपास के लोगों ने चलती कार में आग लगना बताया है। आग लगने से महिला की मौत हो गई। आग कैसे लगी, मामले में जांच की जाएगी।