GWALIOR NEWS- सेना की अग्निवीर भर्ती में ऐसी भीड़, जबलपुर एक्सप्रेस की 10 बार चेन पुलिंग

ग्वालियर
। भारतीय सेना की अग्निवीर भर्ती परीक्षा में शामिल होने के लिए ग्वालियर स्टेशन पर उम्मीदवारों की ऐसी भीड़ लगी जैसे कुंभ के मेले में श्रद्धालु जा रहे हो। जबलपुर एक्सप्रेस की 10 बार चेन पुलिंग हुई। 1 घंटे तक ट्रेन प्लेटफार्म पर खड़ी रही। जीआरपी और आरपीएफ के 100 से ज्यादा जवान व्यवस्था में लगे रहे। 

ग्वालियर बस स्टैंड पर 100 से ज्यादा बसें खड़ी रही, उम्मीदवार नहीं आए

मध्य प्रदेश के सागर जिले में भारतीय सेना के लिए अग्निवीर भर्ती परीक्षा का आयोजन किया गया है। ग्वालियर से सागर के लिए ट्रेनों की संख्या कम होने के कारण रेलवे स्टेशन पर अत्यधिक भीड़ देखी गई। जिला प्रशासन ने 100 से ज्यादा बसों का इंतजाम किया ताकि उम्मीदवार ग्वालियर से सागर जा सके परंतु किराया अधिक होने के कारण उम्मीदवारों ने बस के बजाय ट्रेन का चयन किया। सागर में 7 से 20 अक्टूबर तक अग्निवीर सेना भर्ती होनी है। सागर जाने के लिए ग्वालियर-चंबल अंचल ही ट्रांजिट पॉइंट है। इसलिए यहां पुलिस काफी अलर्ट है।

बार-बार की चेन पुलिंग, जबलपुर एक्सप्रेस एक घंटा खड़ी रही

GRP-RPF के अफसरों से लेकर एक सैकड़ा सुरक्षा जवानों की मौजूदगी प्लेटफार्म पर होने के बाद भी अग्निवीर सेना भर्ती के लिए सागर जा रहे इन युवा उम्मीदवारों ने निजामुुद्दीन से जबलपुर जाने वाली जबलपुर सुपरफास्ट ट्रेन को 10 बार चेन पुलिंग कर एक घंटे से अधिक समय तक रोके रखा। हालांकि अधिक संख्या में सुरक्षा बलों की मौजूदगी इन सेना भर्ती उम्मीदवारों पर भारी रही। इन सभी उम्मीदवारों को रात को ही सागर व बीना जाने वाली ट्रेनों से भारी सुरक्षा बलों की मौजूदगी में रवाना किया गया। 

जबलपुर एक्सप्रेस व उत्कल एक्सप्रेस सबसे ज्यादा प्रभावित

रात में दो ही ट्रेनें सागर के लिए जाती हैं जिनमें जबलुपर सुपरफास्ट एक्सप्रेस व उत्कल एक्सप्रेस ही सीधे सागर पहुंचती है। रात जहां उत्कल एक्सप्रेस चार घंटे की देरी से ग्वालियर पहुंची थी। वहीं जबलपुर एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय दस बजकर पैतीस मिनट पर ग्वालियर पहुंची। सागर जाने के लिए प्लेटफार्म नंबर एक पर मौजूद उम्मीदवारों ने दोनों ही ट्रेनों के एसी कोच से लेकर स्लीपर व जनरल कोचों में चढ़कर आरक्षित सीटों पर कब्जा कर लिया। यात्रियों को जमकर परेशान किया। बार-बार चेन पुलिंग किए जाने के कारण ये दोनों ही ट्रेने एक घंटे से अधिक समय तक स्टेशन व आउटर पर खड़ी रही। 

12 घंटे स्टेशन पर चला चेकिंग अभियान

रेल डीएसपी सुभा श्रीवास्तव ने बताया कि अंचल से सागर जाने वाले उम्मीदवारों की शाम से बढ़ रही संख्या को देखते हुए रेलवे स्टेशन के दोनों सर्कुलेटिंग एरिया के एंट्रेंस गेट पर वैरीकेडिंग लगाकर आम लोगों की एंट्री प्रतिबंधित कर दी गई थी। केवल यात्रा टिकट धारी व परीक्षा में शामिल होने जाने वाले उम्मीदवारों के परीक्षा कार्ड देखने के बाद ही स्टेशन परिसर में एंट्री दी गई।