मध्य प्रदेश के 6 कलेक्टरों ने सुप्रीम कोर्ट की नहीं मानी, सिर्फ खानापूर्ति की- MP NEWS

भोपाल
। एयर क्वालिटी इंडेक्स ने बता दिया है कि दीपावली की रात किस जिले के कलेक्टर ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करवाया और किसने नहीं। 6 शहरों के नाम सामने आए हैं जहां आतिशबाजी के कारण हवा जहरीली हो गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट आदेश दिया था कि हवा में प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों को रोके। कलेक्टरों ने सिर्फ प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए। उनका पालन सुनिश्चित नहीं किया। 

एयर क्वालिटी इंडेक्स के अनुसार दीपावली की रात सबसे जहरीले हवा ग्वालियर (AQI 246) की थी। दूसरे नंबर पर राजधानी भोपाल (AQI-238) का नाम दर्ज हुआ है। तीसरे नंबर पर रतलाम (AQI-235), चौथे नंबर पर जबलपुर (AQI-229), पांचवे नंबर पर देवास (AQI-212) और छठवें नंबर पर इंदौर (AQI-202) दर्ज किया गया है। AQI-200 से ज्यादा होने का मतलब होता है कि हवा में ऑक्सीजन लेवल कम हो गया है और जहरीली गैसों की संख्या मात्रा इतनी अधिक है कि वह स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाएगी। यहां उल्लेख करना अनिवार्य है कि इससे यह स्पष्ट नहीं होता कि किस शहर में कितनी मात्रा में आतिशबाजी हुई। बाजार के रिकॉर्ड बताते हैं कि इंदौर शहर में सबसे ज्यादा आतिशबाजी खरीदी गई, परंतु लोगों ने ऐसी आतिशबाजी खरीदी जो घटिया क्वालिटी की आतिशबाजी की तुलना में कम प्रदूषण करती है। 

बस थोड़ी सी कोशिश कर लेते तो इंदौर में एक और रिकॉर्ड बन जाता है

इंदौर के कलेक्टर यदि थोड़ी सी कोशिश कर लेते तो इंदौर में एक और रिकॉर्ड बन जाता। सबसे ज्यादा आतिशबाजी चलाने के बाद भी सबसे कम प्रदूषण फैलाने का रिकॉर्ड। एयर क्वालिटी इंडेक्स की सीमा 200 से इंदौर शहर मात्र 2 अंक ऊपर गया।