मध्य प्रदेश मानसून- ग्वालियर में भारी बारिश, पानी भरा, 21 जिलों में चेतावनी- MP WEATHER FORECAST

ग्वालियर
। जैसा कि भारत मौसम विज्ञान विभाग की ओर से चेतावनी जारी की गई थी। मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में शाम के समय भारी बारिश शुरू हो गई। सड़कों पर पानी भर गया है। मानसून के बादल वापस लौट कर आए हैं। कृपया ध्यान रखें, मौसम विभाग ने दशहरे के दिन 21 जिलों में बारिश होने की चेतावनी जारी की है। 

मध्य प्रदेश मौसम का पूर्वानुमान- इन जिलों के लिए येलो अलर्ट 

रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, शहडोल, उमरिया, अनूपपुर, सागर, दमोह, छतरपुर, टीकमगढ़, पन्ना, भिंड, मुरैना, श्योपुर, ग्वालियर, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, दतिया, जबलपुर, कटनी, नरसिंहपुर, सिवनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, मंडला, डिंडोरी, भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर, शहडोल, अनूपपुर, कटनी, छिंदवाड़ा, बालाघाट, सिवनी, मंडला, नरसिंहपुर, छतरपुर, सागर, टीकमगढ़, पन्ना, दमोह, निवाड़ी, बैतूल एवं हरदा जिलों में कहीं पर हल्की तो कहीं पर भारी बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा मध्य प्रदेश के अन्य जिलों में भी बारिश हो सकती है।

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसा बहुत कम होता है लेकिन समुद्र में नए मानसून के बादल बन रहे हैं। फिलहाल जो मध्य प्रदेश के आसमान पर हैं वह बादल उड़ीसा और छत्तीसगढ़ होते हुए आए हैं। सटीक पूर्वानुमान नहीं लगाया जा सकता कि कहां कितनी बारिश होगी। बादलों की गति और रंग से अनुमान लगाया गया है कि किन इलाकों में बारिश हो सकती है।