पुष्य नक्षत्र 18 अक्टूबर 2022- शॉपिंग का शुभ मुहूर्त पढ़िए - Jyotish remedies in Hindi

जबलपुर
। ज्योतिषाचार्य पंडित सौरभ दुबे के अनुसार देव गुरु बृहस्पति के पुष्य नक्षत्र में कोई भी काम शुरू करना अथवा किसी भी प्रकार की महत्वपूर्ण खरीदारी करना मंगलकारी माना जाता है। दिशा प्रतिनिधि शनिदेव के कारण पुष्य नक्षत्र में स्थिरता का गुण मौजूद है। यानी इस दिन प्रारंभ किए गए काम अथवा इस दिन खरीदी गई वस्तु स्थिर रहती है और मंगलकारी होती है। 

भगवान श्री हरि विष्णु की अर्धांगिनी माता लक्ष्मी के त्यौहार दीपावली से पहले पुष्य नक्षत्र के अवसर पर स्वर्ण इत्यादि धातुओं 58 से बनी हुई वस्तुओं का क्रय करना। भगवान विष्णु और बृहस्पति ग्रह से संबंधित वस्तुओं की शॉपिंग करना शुभ माना जाता है। इस साल दीपावली से पहले पुष्य नक्षत्र दिनांक 18 अक्टूबर 2022 को प्रातः काल सूर्योदय से पहले 4:25 बजे से प्रारंभ हो जाएगा और निरंतर 19 अक्टूबर 2022 को 7:02 बजे तक रहेगा। मंगलवार के दिन यदि प्रश्न नक्षत्र हो तो इसे वर्तमान युग कहा जाता है। इसके अलावा 18 अक्टूबर को ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सिद्ध और साध्य नाम के 2 अन्य शुभ योग भी बन रहे हैं।

पुष्य नक्षत्र 18 अक्टूबर को खरीदी के शुभ मुहूर्त

- सुबह 08:18 से 09:15 तक
- सुबह 09:15 से 10:12 तक
- दोपहर 12:06 से 01:03 तक
- दोपहर 03:54 से शाम 04:52 तक
- शाम 06:52 से रात 07:55 तक
- रात 08:57 से 10:00 तक

18 अक्टूबर पुष्य नक्षत्र के दिन क्या-क्या खरीद सकते हैं

  • मकान खरीद सकते हैं। 
  • घर के लिए सजावट की वस्तुएं खरीद सकते हैं। 
  • फर्नीचर और वाहन खरीद सकते हैं।
  • निवेश की दृष्टि से सोना खरीद सकते हैं। 
  • घर की महिलाओं के लिए आभूषण खरीद सकते हैं।
  • घर के लिए बर्तन, पूजा सामग्री, घर के लिए शुभ प्रतीक खरीद सकते हैं। 
  • रत्नों में पुखराज, पन्ना, हीरा, नीलम और मोती आदि रत्न खरीद सकते हैं।

पुष्य नक्षत्र में व्यापार में सफलता और नौकरी में प्रमोशन के उपाय

पुष्य नक्षत्र में श्रीसूक्त के 108 पाठ करने से जीवन के आर्थिक संकटों का नाश होता है और सुख-सौभाग्य प्राप्त होता है। श्री सूक्त का पाठ करने से व्यापार में सफलता और नौकरी में प्रमोशन की संभावनाएं बढ़ जाती है। वैवाहिक जीवन में सामंजस्य और खुशहाली के लिए पुष्य नक्षत्र में शिव परिवार का विधि-विधान से पूजन करें। विवाह में बाधा आ रही है तो पुष्य नक्षत्र में बृहस्पति देव के निमित्त कन्याओं को बेसन के लड्डू का वितरण करें।

अस्वीकरण:- यह जानकारी ज्योतिषाचार्य पंडित सौरभ दुबे की ओर से ज्योतिष में विश्वास करने वाले नागरिकों के लिए उपलब्ध कराई गई है ताकि वह किसी भी प्रकार के भ्रमित करने वाले अभियानों से बचे रहें। यह लेख किसी भी प्रकार का दावा नहीं करता। यदि कोई संशय है तो कृपया अपने परिवार के पुरोहित, ज्योतिषाचार्य अथवा धार्मिक मामलों के विशेषज्ञ से संपर्क करें।