डॉक्टर ने डॉक्टर को बर्बाद करने राजस्थान की लड़की से हनी ट्रैप करवाया- INDORE NEWS

मध्यप्रदेश के देवास शहर के प्राइम हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के संचालक डॉ. पवन कुमार चिल्लोरिया के हनी ट्रैप मामले का खुलासा हो गया है। पुलिस में राजस्थान की एक लड़की को गिरफ्तार किया है। बताया है कि देवास के दो डॉक्टरों ने इस लड़की को हनी ट्रैप की सुपारी दी थी। लड़की ने वैसा ही किया जैसा दोनों डॉक्टरों ने उससे कहा था। 

लड़कियां, पुरुषों को हनी ट्रैप कैसे करती हैं

हनी ट्रैप के मामले में लड़कियां, पुरुषों की कमजोरी का फायदा उठाती है। इस मामले में भी ऐसा ही हुआ। लड़की ने डॉक्टर पवन कुमार को 17 जून 2022 को सबसे पहला फोन किया, अपना नाम जोया खान बताया और कहां कि वह डॉक्टर सिंघल को फोन लगा रही थी गलती से आपको लग गया। इस दौरान डॉ पवन कुमार ने पूछा कि मेरा नंबर आपको कहां से मिला। बात करने के तरीके से लड़की समझ गई कि डॉक्टर की कमजोरी क्या है। 

देवास के डॉक्टर को लड़की का रॉन्ग नंबर 9 लाख रुपया पड़ा

लड़की ने फिर से फोन लगाया और कहा कि आपकी बातों से लगता है कि आप अच्छे इंसान हैं। आपसे दोस्ती की जा सकती है। डॉ पवन की आंखों में लड्डू फूटने लगे। कुछ समय बाद यह रॉन्ग नंबर ₹900000 का हो गया। लड़की के पास वीडियो और फोटो थी। वह लगातार ब्लैकमेल कर रही थी। रुकने का नाम ही नहीं ले रही थी। 

देवास के दो डॉक्टरों ने रची थी हनी ट्रैप की साजिश

डॉ. पवन कुमार चिल्लोरिया ने पुलिस को बताया कि देवास के ही दो डॉक्टरों ने लड़की को हनी ट्रैप करने के लिए हायर किया था। लड़की इस तरह के काम करती रहती है। राजस्थान में भी कई लोगों के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज करवा चुकी है। दोनों डॉक्टरों ने लड़की से कहा था कि फोटो और वीडियो बनाकर उन्हें देगी। दोनों डॉक्टर उनके वीडियो वायरल करके उन्हें बर्बाद करना चाहते थे। 

देवास पुलिस ने डॉ. संतोष दाबाड़े निवासी कैलादेवी रोड (देवास), जोया उर्फ मोनिषा डेविड निवासी भीलवाड़ा (राजस्थान) और डॉ. महेंद्र गालोदिया निवासी टोंकखुर्द (देवास) के खिलाफ केस दर्ज किया है।

गिरफ्तार लड़की का बयान: मैं ऐसी नहीं हूं, सब साबित हो जाएगा

बीती रात 1 सितंबर को देवास पुलिस उसे भीलवाड़ा राजस्थान से हिरासत में लेकर आ गई। उसे पकड़ने जब पुलिस सिविल ड्रेस में पहुंची तो वह कहने लगी, आप कौन हो, कहां ले जा रहे हो। देवास आने पर भी उसके तेवर देखने को मिले। उसने मीडियाकर्मियों से कहा कि आप किसी को भी अपराधी बना देते हो। मैं ऐसी नहीं हूं। जांच में सब कुछ साबित हो जाएगा। अभी बहुत कुछ खुलासा होगा।