BHOPAL NEWS- ओरिएंटल कॉलेज के स्टूडेंट की संदिग्ध मौत, IG, DIG, SP रात भर जांच में जुटे रहे

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी में संचालित ओरिएंटल कॉलेज के इंजीनियरिंग स्टूडेंट की संदिग्ध मौत हो गई। उस की डेड बॉडी भोपाल-नर्मदापुरम रेल ट्रैक पर पड़ी हुई मिली है। यह मामला क्लियर कट सुसाइड का होता परंतु उसकी मौत के बाद उसके मोबाइल से एक मैसेज उसके पिता और दोस्तों को किया गया। इस मैसेज के कारण परिस्थितियां बदल गई। IG, DIG, SP रात साढ़े 3 बजे तक जांच में जुटे रहे। 

टीटी नगर पुलिस थाने के इंस्पेक्टर चैन सिंह रघुवंशी ने बताया कि स्टूडेंट का नाम निशांत राठौर उम्र 20 वर्ष है। ओरिएंटल कॉलेज में B.Tech 5th सेमेस्टर का स्टूडेंट था। इंद्रपुरी में एक प्राइवेट हॉस्टल में रहता था। उसके पिता उमाशंकर राठौर सहकारिता विभाग में सरकारी कर्मचारी हैं और हरदा में पदस्थ हैं। उसे बाइक चलाने का शौक था और सुना है कि शेयर बाजार में इन्वेस्ट करता था। 

रविवार को दोपहर 3:00 बजे अपनी बड़ी बहन से मिलने के लिए निकला था जो भोपाल के साकेत नगर स्थित परीक्षा केंद्र में परीक्षा देने के लिए आई थी। इसके बाद उसका कुछ पता नहीं चला। रात 8:00 बजे उसके पिता एवं दोस्तों के पास उसके मोबाइल से एक मैसेज आया जिसमें उसका फोटो भी लगा हुआ था। इस मैसेज के कारण सभी घबरा गए। सीधे पुलिस के पास पहुंचे। पुलिस को कार्रवाई शुरू कर पाती इससे पहले। पुलिस को रेलवे ट्रैक पर एक डेड बॉडी का समाचार मिला और उसकी शिनाख्त निशांत राठौर के रूप में हो गई। 

पुलिस ने प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन में सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग चेक की। इसमें पुलिस को कुछ भी संदिग्ध नहीं दिखाई दिया। सभी कैमरों में वह अकेला जाता हुआ दिखाई दे रहा है। उसने ₹450 का पेट्रोल भी डलवाया था। पुलिस के सामने सबसे बड़ा चैलेंज यह पता लगाना है कि उसका मोबाइल फोन कौन ऑपरेट कर रहा था। 

नर्मदापुरम रेंज IG दीपिका सूरी, DIG जेएस राजपूत, SP विकास कुमार शहवाल बरखेड़ा पुलिस चौकी पहुंचे। वह रात करीब साढ़े तीन बजे तक घटना को लेकर जांच करते रहे। SP विकास कुमार ने बताया कि प्रारंभिक जांच में छात्र के नाम से बनी ID से एक पोस्ट होने की पुष्टि हुई है। मोबाइल की जांच के बाद ही यह पता चल सकेगा कि छात्र के मोबाइल से यह पोस्ट की गई या फिर किसी दूसरे मोबाइल से ID ओपन कर पोस्ट अपलोड की गई।