BHOPAL NEWS- वाइस प्रिंसिपल के खिलाफ 200 छात्राओं का प्रदर्शन, बॉयफ्रेंड की बातें करती है, आरोप

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी स्थित गांधी मेडिकल कॉलेज के नर्सिंग कॉलेज में वाइस प्रिंसिपल रजनी नायर के खिलाफ NSUI के बैनर तले 200 छात्राओं ने प्रदर्शन किया। इससे पहले 130 छात्राओं ने सीएम हेल्पलाइन में शिकायत की थी। छात्राओं का आरोप है कि मैडम बॉयफ्रेंड की बातें करती हैं।

कहती हैं, सिर्फ मोटी लड़कियों के ही ब्याय फ्रेंड होते हैं, इसलिए अच्छा खाना-पीना खाओ। ब्वाय फ्रेंड से बोलो अच्छे से खिलाए-पिलाए। तुम्हारा ब्वाय फ्रेंड है या नहीं। एनएसयूआइ के बैनर तले सोमवार सुबह 10 बजे से अधिष्ठाता कार्यालय के सामने करीब 200 छात्राएं धरने पर बैठ गईं। करीब 130 छात्राओं ने सीएम हेल्पलाइन में भी इस मामले की शिकायत की है।

पहले कहती थी, पढ़ नहीं पा रही हो तो तालाब में डूब मरो

बताया गया है कि रजनी नायर नर्सिंग कालेज में पहले ट्यूटर थीं। महीने भर पहले वाइस प्रिंसिपल सुजाता को हटाकर उन्हें यहां पदस्थ किया गया है। छात्राओं का कहना है कि ट्यूटर के रूप में कक्षाओं में भी वह कई बार व्यक्तिगत बातों को लेकर दिप्पणी करती थीं, लेकिन यह बातें सिर्फ एक कक्षा तक सीमित रहती थीं, इसलिए मामला दबा रह गया। कई बार पढ़ाते समय यह भी बोलती थीं कि ठीक से नहीं पढ़ पा रही हो तो बड़े तालाब में जाकर डूब मरो। 

माता-पिता से कहती हैं- आपकी बेटी अय्याशी करती है

आरोप लगाया गया है कि उप प्राचार्य बनने के बाद बीएससी नर्सिंग की प्रथम वर्ष से लेकर अंतिम वर्ष तक छात्राओं पर वह इसी तरह की टिप्पणी करने लगीं। शारीरिक बनावट के बारे में कई बार वह टिप्पणी करती हैं। छात्रओं का आरोप है कि वह कई बार जातिगत बातें भी करती हैं। ऐसे में उन्हें हटाना जरूरी है। छात्राओं ने यह बताया कि माता-पिता को बुलाकर वह कहती हैं कि आपकी बेटी यहां पर अय्याशी करने के लिए आई है। इससे माता-पिता भी गुस्सा करते हैं।

एनएसयूआइ की छात्र इकाई के प्रदेश समन्वयक रवि पररमार ने बताया कि लंबे सयम से रजनी नायर छात्रओं से दुर्व्यवहार कर रही हैं, लेकिन डर के चलते छात्राओं ने कहीं शिकायत नहीं की थी। उधर, डीन ने प्रदर्शन कर रही छात्राओं से कहा है कि मामले की जांच करा रहे हैं।