BHOPAL NEWS- गोल्ड इंडिया एजुकेशन इंदौर मामले में एक गिरफ्तार, दूसरा फरार

Gold India Education Services: Study MBBS Abroad
 के संचालक एवं सीनियर एमआइजी गोकुलधाम सोसायटी भोपाल के रहने वाले सुभाष अग्रवाल को इंदौर पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। आरोप है कि उसने गोल्ड इंडिया एजुकेशन सर्विस कंसलटेंसी के माध्यम से छात्रों से विदेश से MBBS कराने के नाम पर करोड़ों रुपए वसूले और फरार हो गया। 

इंदौर के विजय नगर थाना के टीआई रविंद्र सिंह गुर्जर ने बताया कि सुभाष अग्रवाल और उसका मैनेजर वेंकटेश राव ने आर्बिट माल (एबी रोड) पर गोल्ड इंडिया एजुकेशन सर्विस एमबीबीएस स्टडी अब्राड के नाम से सलाहकार कंपनी शुरू की थी। लोगों को बताया कि वह वाशिंगटन यूनिवर्सिटी आफ बारबाडोस में एमबीबीएस कोर्स के लिए एडमिशन कराते हैं। 

दुर्गा अशोक कुशवाह, शोभना अशोक कुशवाह, नवीन दिनेश राठौर, शुभम अशोक दीक्षित, कीर्ति दीपेंद्र खन्ना सहित 10 से ज्यादा विद्यार्थियों ने एडमिशन के लिए शुभम और वेंकटेश को 2850000 रुपए प्रति छात्र की दर से करीब ढाई करोड रुपए दिए। शुभम ने एडमिशन कंफर्म बता कर सबको वेस्टइंडीज भेज दिया। कुछ दिनों तक सब कुछ ठीक रहा है लेकिन उसके बाद वह कॉलेज बंद हो गया, जिस में एडमिशन कराया गया था। 

स्टूडेंट्स के पैरंट्स ने अपने पैसे वापस मांगे तो शुभम और वेंकटेश फरार हो गए। लंबे समय तक तलाश करने के बाद इंदौर पुलिस ने शुभम अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि वेंकटेश राव विदेश भाग गया है। पुलिस उसके खिलाफ कार्रवाई कर रही है।