MP नर्सिंग परीक्षा घोटाला- सब कुछ सरकारी अस्पताल से संचालित हो रहा था, पुलिस का खुलासा

मध्यप्रदेश के मुरैना जिला चिकित्सालय परिसर में नर्सिंग कोर्स परीक्षा के दौरान सामूहिक नकल के मामले में नया खुलासा हुआ है। जो कुछ भी हो रहा था वह सब कुछ सरकारी अस्पताल से ही संचालित हो रहा था। बिहार और झारखंड के विद्यार्थियों को पास कराने की गारंटी पर मुरैना लाया गया था। परीक्षा देने वालों को तो यह भी पता नहीं था कि वह किस कॉलेज के स्टूडेंट है। चिंता वाली बात यह है कि अब तक राजधानी ने कोई कार्यवाही नहीं की है।

MORENA NEWS- दो लाइन का आवेदन देकर फंस गए सिविल सर्जन

योगेन्द्र सिंह जादौन, थाना प्रभारी, कोतवाली ने बताया कि सिविल सर्जन डॉ विनोद गुप्ता ने जो आवेदन दिया है वह केवल दो लाइनों का है। उसमें न तो कॉलेजों का नाम है और न ही अन्य कोई जानकारी। यह आवेदन उन्होंने अपने को बचाने के लिए खानापूर्ति के लिए दिया है। हमने उनसे अस्पताल के सीसी टीवी फुटेज मांगे हैं जो देने में आनाकानी की जा रही है। (इस आवेदन ने सिविल सर्जन को शक के केंद्र में लाकर खड़ा कर दिया है। यदि सिविल सर्जन इस घोटाले में शामिल नहीं होते तो उनके आवेदन की भाषा वही होती, जो ऐसे मामलों में अधिकारियों की होती है।)

MP NEWS- नर्सिंग परीक्षा सामूहिक नकल के फोटो वीडियो वायरल हुए हैं

आपको बता दें, कि एक अप्रेल 2022 को जिला चिकित्सालय परिसर में सैकड़ों की संख्या में नर्सिंग कॉलेजों के छात्र-छात्राएं पहुंचे तथा सामूहिक रुप से प्रायोगिक परीक्षा में नकल की। नकल का आलम यह था कि अस्पताल परिसर में झुण्ड बनाकर गूगल व मोबाइल यू ट्यूब से नकल की गई। पूरे अस्पताल में यह छात्र-छात्राएं सामूहिक रुप से बैठकर नकल कर रहे थे। समय रहते यह खबर मुरैना के पत्रकारों तक भी पहुंच गई। पत्रकार जब कैमरे लेकर अस्पताल पहुंचे तो सब कुछ रिकॉर्ड हो गया। उस समय सिविल सर्जन ने बयान दिया कि उन्हें इस बारे में कुछ भी पता नहीं है। 

BHOPAL NEWS TODAY- छात्रों को पता ही नहीं कि उनके कॉलेज का नाम क्या है

पत्रकारों ने जब परीक्षा देने वाले छात्रों से बातचीत की तो पता चला कि उन्हें तो। अपने कॉलेज का नाम तक नहीं पता। उन्हें बिहार और झारखंड से एकमुश्त रकम के बदले लाया गया था। कहा गया है कि उन्हें नर्सिंग कोर्स की डिग्री मिल जाएगी। पत्रकारों ने जब मुरैना में मान्यता प्राप्त 26 नर्सिंग कॉलेजों की छानबीन की तो पता चला कि कॉलेज के नाम पर एक कमरा भी नहीं है। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.