BHOPAL NEWS- रीवा के बाहुबली दादाभाई का क्रिमिनल रिकॉर्ड चर्चाओं में, सजायाफ्ता लेकिन आजीवन पैरोल पर

भोपाल
। रीवा के सरकारी रेस्ट हाउस में नाबालिग बच्ची से रेप के मामले में फरार आरोपी सीताराम दास को अपने फार्म हाउस में छुपाने के आरोप में रीवा के दादा भाई और उनके भांजे को राजधानी भोपाल से गिरफ्तार कर लिया गया। पहले फरार सीतारामदास के कारण दादा भाई का फार्म हाउस चर्चा में आया था अब दादा भाई के कारण भोपाल का एक ठिकाना सुर्खियों में आ गया है। 

पुलिस ने बताया कि रीवा का दादा भाई यानी संजय त्रिपाठी के खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास और अवैध हथियार रखने इत्यादि के 29 मामले दर्ज हैं। हत्या के एक मामले में संजय त्रिपाठी को आजीवन कारावास की सजा हो चुकी है लेकिन गंभीर रूप से बीमार होने के कारण उसे आजीवन पैरोल पर छोड़ दिया गया था। गिरफ्तारी के बाद संजय त्रिपाठी का मेडिकल बोर्ड द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाना अनिवार्य है। पुलिस ने दावा किया है कि जब संजय त्रिपाठी को गिरफ्तार किया गया तो वह पूरी तरह स्वस्थ था और लग्जरी लाइफ जी रहा था। 

पुलिस ने बताया कि संजय त्रिपाठी ने बलात्कार के मामले में फरार आरोपी सीताराम दास को अपने फार्म हाउस में छुपाया था। जब पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया तो संजय त्रिपाठी वहां से भोपाल भाग आया। 2003 से पहले तक संजय त्रिपाठी कांग्रेस पार्टी में मजबूत पकड़ हुआ करती थी। बताते हैं कि अब भारतीय जनता पार्टी में उसकी मजबूत पकड़ है। संजय त्रिपाठी ने अखिल भारतीय ब्राह्मण समाज के नाम से एक संगठन बना रखा है, जिसका वह स्वयं राष्ट्रीय अध्यक्ष है। विंध्य प्रदेश का बाहुबली संजय त्रिपाठी एक अच्छे परिवार से हैं। उसके पिता एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट में डायरेक्टर के पद से रिटायर हुए और मां लेक्चरर थी। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें।