मध्यप्रदेश पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा रिजल्ट मामले में गृहमंत्री का बयान पढ़िए - MP NEWS

भोपाल
। गृह मंत्री मध्यप्रदेश शासन डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने दावा किया है कि पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा मामले में कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि 2017 में भी लोग पुलिस आरक्षक चयन प्रक्रिया के खिलाफ हाईकोर्ट में गए थे, हाईकोर्ट ने शासन की चयन प्रक्रिया को सही बताया था।

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि आरक्षक भर्ती में सिर्फ एक शिकायत विकास मीना की आई थी। उन्होंने कहा था कि पहले क्वालिफाई हो गया हूं और बाद में अनक्वालिफाइड कर दिया गया। जांच में पाया गया कि विकास पहले से ही अनक्वालिफाइड थे। एक ही बार रिजल्ट जारी हुआ। 

पुलिस आरक्षक भर्ती की 2017 की जो प्रक्रिया थी, उसके खिलाफ भी लोग इंदौर हाईकोर्ट गए थे। इंदौर हाईकोर्ट ने भी इस प्रक्रिया को सही माना था। पूर्व सैनिकों का आरक्षण यथावत है। चयन कटऑफ मार्क्स के हिसाब से किया गया है। उन्होंने कहा कि देवास के विकास मीणा ने शिकायत की थी। उनकी शिकायत गलत पाई गई है। वह पहली बार में ही नॉट-क्वालिफाइड था। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.