MP NEWS- निंदा और नाराजगी के बीच सीहोर कलेक्टर ने सफाई पेश की, निरस्त हुए रुद्राक्ष महोत्सव का मामला

भोपाल।
ट्रैफिक के मिसमैनेजमेंट के कारण भव्य रुद्राक्ष महोत्सव के निरस्त हो जाने के बाद सीहोर के कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने सफाई पेश करने की कोशिश की है। सीहोर के कलेक्टर कार्यालय की ओर से बताया गया है कि कलेक्टर और एसपी के प्रयास से कुछ समय बाद सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चलने लगी थीं। 

आरंभ में जाम की स्थिति निर्मित हुई थी: कलेक्टर कार्यालय का दावा

कलेक्टर कार्यालय की ओर से जारी किए गए स्पष्टीकरण में लिखा है कि 'कथा वाचक पंडित प्रदीप मिश्रा द्वारा 28 फरवरी से भव्य रुद्राक्ष महोत्सव आयोजित किया गया था। इस आयोजन में देश भर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु सीहोर पहुंचे। श्रद्धालुओं और वाहनों की संख्या अपेक्षा से कहीं अधिक होने के कारण आरंभ में जाम की स्थिति निर्मित हुई। 

कलेक्टर-एसपी ने व्यवस्था को सुचारू बनाया: कलेक्टर कार्यालय का दावा

किंतु कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर तथा एसपी श्री मयंक अवस्थी द्वारा व्यवस्था को सुचारू बनाया गया। कलेक्टर तथा एसपी ने स्वयं मोर्चा संभालते हुए माइक से लगातार अनाउंस करते रहे और व्यवस्था में लगे अधिकारी-कर्मचारियों को निर्देश देते रहे। सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चलने लगी।' 

40 किलोमीटर लंबा जाम लगा था, कलेक्टर ने रुद्राक्ष महोत्सव निरस्त करवाया था

सीहोर प्रशासन का मिसमैनेजमेंट देश भर की सुर्खियों में बना हुआ है। महाशिवरात्रि के अवसर पर प्रारंभ हुआ रुद्राक्ष महोत्सव प्रशासन के प्रेशर के कारण निरस्त किया गया। इसकी घोषणा करते समय आयोजक पंडित प्रदीप मिश्रा की आंखों में आंसू थे। तमाम स्थानीय समाचार माध्यमों एवं न्यूज़ एजेंसी द्वारा जारी खबर के अनुसार कम से कम 40 किलोमीटर लंबा जाम लगा हुआ था। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.