अजीबोगरीब लव स्टोरी- पढ़ने के बाद ही समझ आएगा दीवानगी का आलम - strange love story

भोपाल
। यह एक ऐसी लव स्टोरी है जिसे 4 शब्दों में टाइटल नहीं किया जा सकता। मामला भोपाल की काउंसलर एवं एडवोकेट सरिता राजानी के पास आया है जबकि कहानी दिल्ली की है। एक फैमिली ने सरिता से संपर्क किया। बताया कि उनका इकलौता और शादीशुदा बेटा जो मल्टीनेशनल कंपनी में काम करता है, पिछले कुछ दिनों से अजीब सा व्यवहार कर रहा है। काउंसलिंग के 6 राउंड पूरे हो चुके हैं, लेकिन कहानी खत्म नहीं हुई है।

पति नहीं बन सकता तो बहन बनकर साथ रहेगा, जेंडर चेंज करा रहा है 

युवक की उम्र 32 साल है। मल्टीनेशनल कंपनी में अच्छी जॉब करता है। शादीशुदा है और बेटा भी है। पिता क्लास वन ऑफिसर थे, रिटायर हो गए हैं। परिवार में सब कुछ बहुत अच्छा चल रहा है। व्यवहार में अचानक परिवर्तन और काफी तनाव के बाद जब उसकी पत्नी ने उसे विश्वास में लेकर पूछा तब उसमें सब कुछ बताया।

युवक ने बताया कि जिस कंपनी में वह काम करता है, वहीं पर 30 साल की एक महिला भी काम करती है। उसकी एक बेटी है। कोरोनावायरस की पहली लहर में उसके पति की मृत्यु हो गई थी। अब वह अकेली रहती है। करीब 6 महीने पहले दोनों की मुलाकात हुई। युवक ने अपनी पत्नी को बताया कि वह साथ काम करने वाली महिला को बहुत प्यार करता है। उससे शादी करना चाहता है, परंतु साथी महिला कर्मचारी ने मना कर दिया। उसने कहा कि वह अपने स्वर्गवासी पति की जगह किसी और को नहीं देख सकती।

युवक ने, अकेले संघर्ष कर रही साथी महिला कर्मचारी का साथ देने के लिए एक ऐसे प्लान पर काम शुरू किया जिसके बारे में कभी कोई विचार ही नहीं कर सकता। वह डॉक्टर के पास गया और जेंडर चेंज की प्रक्रिया पर काम शुरू हो गया। युवक लड़की बनना चाहता है ताकि अपनी गर्लफ्रेंड के साथ उसकी बहन बनकर रह सके। उसका ख्याल रख सके क्योंकि वह दुनिया में अकेली है।

महिला कर्मचारी ने कहा, कई बार समझाया लेकिन मानता ही नहीं 

काउंसलर एडवोकेट सरिता ने उस महिला कर्मचारी से भी बात की जिसकी दीवानगी में युवक जेंडर चेंज करा रहा है। महिला ने बताया कि उसने प्रपोज किया था लेकिन मैंने अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी थी। फिर भी वह मानता नहीं है। कई बार उसे समझाया। वह सुनने को तैयार ही नहीं है।  भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें.