राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान भर्ती पर विवाद, सेडमैप का टेंडर निरस्त करने की मांग - MP NEWS

भोपाल।
उद्यमिता विकास केंद्र मप्र (सेडमैप) को राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान (RGSA) योजना के तहत मध्यप्रदेश में जनपद पंचायत स्तर तक विभिन्न रिक्त पदों पर भर्ती के लिए मिले टेंडर को निरस्त करने की मांग उठी है। इसी के साथ ग्राम स्वरोजगार अभियान की भर्ती प्रक्रिया विवादों में आ गई है। 

पंचायत राज संचालनालय द्वारा जुलाई 2021 में उद्यमिता विकास केंद्र मप्र (सेडमैप) को वर्कऑर्डर दिया था। कांग्रेस पार्टी के नेता एवं प्रवक्ता सैयद जाफर का कहना है कि बिना टेंडर प्रक्रिया का पालन किया उद्यमिता विकास केंद्र को 18 करोड़ रुपए का काम दे दिया गया। इसके लिए उसे 10% दिया जा रहा है। जबकि यदि पेंडल बुलाते तो यही काम 2% में हो सकता था। 


मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान भर्ती कितने पदों पर होनी है

1- राज्य कार्यक्रम प्रबंधन ईकाई SPMU पर होने वाली भर्ती : यहां स्टेट मैनेजन/कंसल्टेंट, अकाउंटेंड, कंसल्टेंट/ कोऑर्डिनेटर, मॉनिटरिंग एंड इवेल्यूएशन एक्सपर्ट, आईईसी/मीडिया एंड कम्यूनिटी/इंस्टीट्यूशनल डेवलपमेंट एक्सपर्ट, टेक्निकल एक्सपर्ट(साफ्टवेयर डेवलपमेंट), जीआईएस/एमआईएस एंड एमई स्पेशलिस्ट, लोकल प्लानिंग गवर्नेंस एक्सपर्ट, प्रोग्राम, स्टेट डाटा मैनेजर की एक-एक पोस्ट पर भर्ती होनी है।

2- जिला कार्यक्रम प्रबंधन ईकाई DPMU पर होनी वाली भर्ती : यहां डिस्ट्रिक्ट कोऑर्डिनेटर/मैनेजर के 52, कंप्यूटर ऑपरेटर कम असिस्टेंट के 52 पदों पर भर्ती होनी है।

3- ब्लॉक कार्यक्रम प्रबंधन ईकाई BPMU स्तर पर होने वाली भर्ती : यहां सब इंजीनियर/टेक्निकल कोआर्डिनेटर के 313 पद, अकाउंट कम डाटा एंट्री ऑपरेट के 626 पद, पीईएसएस ब्लॉक कोऑर्डिनेट के 89 पदों पर भर्ती होनी है। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया mp news पर क्लिक करें.