इंदौर की बेटी चली गई, सारा शहर शोकमग्न है, सभी कार्यक्रम निरस्त- INDORE NEWS

इंदौर के इतिहास में इससे बड़ा शोक का दिन शायद ही कोई रहा हो। हजारों लोगों ने रविवार के कार्यक्रम रद्द कर दिए। जिस बेटी ने सारी दुनिया में इंदौर की शान बढ़ाई, इंदौर को पहचान दिलवाई, वह लता मंगेशकर दुनिया छोड़ कर चली गई। इस खबर के साथ ही पूरा इंदौर शोक में डूब गया है। रविवार के सभी कार्यक्रम निरस्त कर दिए गए हैं। 

लता मंगेशकर का परिवार

लता मंगेशकर का जन्म वर्तमान मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में 28 सितंबर 1929 को हुआ था। उस समय इंदौर एक राज्य था जो ब्रिटिश साम्राज्य सेंट्रल इंडिया एजेंसी के अंतर्गत आता था। उनके पिता पंडित दीनानाथ मंगेशकर (गोमंतक मराठा समाज) रंगमंच के कलाकार और गायक थे। लता मंगेशकर परिवार में सबसे बड़ी बेटी थी। भाई हृदयनाथ मंगेशकर और बहनों उषा मंगेशकर, मीना मंगेशकर और आशा भोंसले सभी का जीवन संगीत के लिए समर्पित है। 

लता मंगेशकर के पिता गोवा छोड़कर इंदौर आए थे 

यह बहुत कम लोग जानते हैं कि लता मंगेशकर का परिवार महाराष्ट्र नहीं बल्कि गोवा का रहने वाला है। मंगेशी गांव होने के कारण सरनेम मंगेशकर रखा गया। गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय मनोहर पर्रिकर ने बताया था कि अवसर की कमी के कारण पंडित दीनानाथ मंगेशकर को गोवा राज्य छोड़कर जाना पड़ा था। वह शिव मंदिर एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जहां पर लता मंगेशकर का परिवार पूजा किया करता था।  इंदौर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया indore news पर क्लिक करें.