जिन अधिकारियों ने फ्लैट और नौकरी दिलवाई, उन्हीं के खिलाफ रेप का केस दर्ज करा दिया - INDORE NEWS

इंदौर।
16 साल की नाबालिग लड़की के साथ बलात्कार के मामले में पुलिस ने मामला दर्ज करके तत्काल प्राइवेट कंपनी में सीईओ अनिल सिंघल को गिरफ्तार किया और दूसरे आरोपी IDA इंजीनियर दिनेश गोयल की गिरफ्तारी पर इनाम घोषित किया। अनिल सिंघल ने अपने बयान में बताया कि उन्होंने लड़की की मां को लग्जरी फ्लैट दिलवाया था। रुचि सोया में उसकी नौकरी भी लगवाई थी। इधर पीड़ित पक्ष ने यू टर्न ले लिया है। 

लड़की की मां से हमारे पुराने संबंध, फ्लैट और नौकरी दिलवाई थी: आरोपी अनिल सिंघल का बयान

गिरफ्तार सीईओ अनिल सिंघल ने पुलिस को बताया कि उसकी और गोयल की पिछले 15 वर्षों से पीड़िता की मां से जान पहचान थी। सूत्रों की माने तो फरार IDA इंजीनियर दिनेश गोयल द्वारा लसूड़िया थाना क्षेत्र की एक लग्जरी बिल्डिंग में पीड़िता की मां को फ्लैट दिलाया गया था। कई साल तक अनिल सिंघल और दिनेश गोयल पीड़िता की मां और पीड़िता का खर्चा उठाते थे। वहीं अनिल सिंघल द्वारा इंदौर की एक रूची सोया कंपनी में पीड़िता की मां को नौकरी दिलाई गई थी। थोड़े दिनों बाद उसने रूचि सोया से नौकरी छोड़ दी थी। कई वर्षों से दोनों के ही पीड़िता की मां से संबंध थे। पीड़ित नाबालिग से भी वहीं संपर्क में आए थे। पुलिस को दिए बयानों में अनिल सिंघल ने अपनी गलती नहीं मानी। 

पीड़ित पक्ष ने यू-टर्न लिया, पुलिस पर आरोप लगा दिया 

इधर लड़की की मां ने पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र को एक आवेदन देकर पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने इस मामले में जल्दबाजी में कार्रवाई की है। मामले की फिर से जांच करवाई जाए। थाना प्रभारी इंद्रमणि पटेल का कहना है कि पुलिस ने पूरी प्रक्रिया का पालन किया है। पीड़ित पक्ष की ओर से धारा 164 के बयान दर्ज करवाए गए थे। पीड़ित पक्ष ने साक्ष्य भी उपलब्ध कराए थे। इंदौर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया indore news पर क्लिक करें.