BHOPAL साइबर पुलिस का खुलासा: करैरा का गैंग पूरे देश के क्रिमिनल्स को SIM सप्लाई करता था

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शिवपुरी जिले के करैरा तहसील के 3 लड़कों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दावा किया है कि यह तीनों लड़के पूरे भारत में फोन पर धोखाधड़ी और ब्लैक मेलिंग करने वाले अपराधियों को SIM CARD सप्लाई किया करते थे। एक सिम कार्ड को 500 रुपए में बेच देते थे। अब तक 1200 सिम कार्ड बेच चुके हैं। 

भोपाल में अनिल कुमार नाम के एक व्यापारी ने दिनांक 16 दिसंबर 2021 को शिकायत की थी कि 10 दिसंबर 2021 को उसके पास एक फोन आया। कॉलर ने खुद को बैंक का अधिकारी बताया और उसके खाते से ₹116000 निकाल लिए। इन्वेस्टिगेशन के दौरान पुलिस ने बिहार से उस अपराधी को गिरफ्तार कर लिया जिसमें फोन पर ठगी की थी। जांच में पाया गया कि बिहार के अपराधी द्वारा जो सिम कार्ड यूज किया जा रहा था वह मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले से जारी हुआ था। यह आश्चर्यजनक था। जांच का दायरा बढ़ाया तो इस गैंग का पता चला। पुलिस ने दावा किया कि कुल 4 सदस्य हैं। 3 गिरफ्तार कर लिए गए हैं। 

कौन-कौन गिरफ्तार हुए, क्या करते थे 
रहगवां तहसील करैरा जिला शिवपुरी निवासी हेमंत लोधी को गिरफ्तार किया है। वह Bsc कर चुका है और पुलिस आरक्षक की भर्ती की तैयारी कर रहा है। इसका काम सिम एक्टीवेट करना था।

दूसरा आरोपित दिलीप गुर्जर निवासी करैरा शिवपुरी ITI की पढाई कर चुका है। वह फर्जी दस्तावेज बनाकर उस पर सिम को एक्टीवेट करता।

तीसरा आरोपी रोहित योगी निवासी करैरा जिला शिवपुरी आठवीं तक पढ़ा है। वह कोरियर कंपनी में काम कर चुका है। वह सिम कार्ड शिवपुरी से दिल्ली लेकर जाता था। 
भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें.