BHOPAL NEWS- भाजपा के प्रभारी की लाइफस्टाइल और VIP मेंटालिटी सुर्खियों में

भोपाल
। भारतीय जनता पार्टी संगठन का काम करने आए एक नेता की लाइफ स्टाइल और वीआईपी मेंटालिटी इन दिनों काफी सुर्खियों में है। शिवराज सिंह सरकार भी उनके सामने समर्पित भाव से नियम विरुद्ध वह सब कुछ कर रही है जो, सरकार पर सवाल उठाने के लिए काफी है। 

भारतीय जनता पार्टी में संगठन का काम करने आने वाले नेता ज्यादातर प्रदेश कार्यालय में ही रुकते हैं। भाजपा के एमपी स्टेट पार्टी ऑफिस में रोकने के लिए काफी अच्छी सुविधाएं हैं लेकिन यह वाले प्रभारी थोड़े अलग हैं। इन्होंने राजधानी के पॉश इलाके में अपने लिए सरकारी बंगला आवंटित करवाया। संगठन के नेताओं के नाम से सरकारी बंगला आवंटित नहीं हो सकता था इसलिए उसे एक विधायक के नाम पर चढ़ा दिया गया।

केवल बंगला अलॉट नहीं करवाया बल्कि भारी भरकम खर्चे के साथ बंगले का इंटीरियर भी चेंज किया गया है। संगठन के प्रभारी ने अपने लिए हाई प्रोफाइल सिक्योरिटी भी अरेंज करवा ली है। सरकारी खर्चे पर 2-2 गार्ड तैनात किए गए हैं। मंत्री महोदय की कृपा से 2 सरकारी वाहन प्रभारी अधिकारी की सेवा में भेज दिए गए हैं। वैसे सवाल सरकार पर नहीं प्रभारी अधिकारी पर उठाया जाना चाहिए। 

संगठन के अधिकारियों की जिम्मेदारी है कि वह राजनीति में शुचिता को प्रमाणित करें। अपने जीवन एवं व्यवहार से आदर्श स्थापित करें। भाजपा के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को भ्रष्टाचार के बिना सत्ता में बने रहने के तरीके सिखाएं, लेकिन यहां तो उल्टा हो रहा है। लोग सवाल पूछ रहे हैं कि क्या भाजपा के प्रभारी को अपने ही कार्यकर्ताओं से खतरा है जो सिक्योरिटी गार्ड तैनात करवा लिए। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें।