MP TET VARG 3 महत्वपूर्ण शब्दावली- आईवान पावलव के शास्त्रीय अनुबंधन के सिद्धांत की

mportant terms of Ivan Pavlov Classical Conditioning Theory

इवान पावलव जो कि एक एक रशियन फिजियोलॉजिस्ट थे उन्होंने Educational Psychology के लिए व्यवहारवाद का प्रयोग करते हुए एक बड़ी ही इंपॉर्टेंट लर्निंग थ्योरी दी। जिसमें उन्होंने एक डॉग के ऊपर प्रयोग किया। इस थ्योरी में मुख्य रूप से दो कारक थे उद्दीपक (Stimulus) और अनुक्रिया (Response) इन्हें S-R bond भी कहा जाता है।
 
इस सिद्धांत का मुख्य उद्देश्य है कि किसी भी जीव में उद्दीपक (Stimulus) के द्वारा अनुक्रिया (Response) करवाना चाहे फिर वह उद्दीपक प्राकृतिक हो या कृत्रिम। इवान पावलव ने जो डॉग पर प्रयोग किए उसमें उन्होंने नेचुरल स्टीमुलस (खाने) के साथ आर्टिफिशियल स्टीमुलस (घंटी) को लेकर क्लासिकल कंडीशनिंग करवाई। जिसके बाद पावलव ने देखा कि कुत्ते के मुंह में लार आना (Salivation) शुरू हो गई। 

शास्त्रीय अनुबंधन सिद्धांत की महत्वपूर्ण शब्दावली - important terms of Classical Conditioning Theory

1. UCS (Unconditioned Stimulus) - यह एक ऐसा उद्दीपक है, जिसे देखकर अपने आप अनुक्रिया होती है। उदाहरण-खाना
2. UCR (Unconditioned Response) - जो की लार का टपकना है। 
3. CS (Conditioned Stimulus) -ऐसा Stimulus जिससे पहले कोई फर्क नहीं पड़ता परंतु कंडीशनिंग करने के बाद फर्क पड़ता है जैसे- घंटी। 
4.CR (Conditioned Response) - ऐसा रिस्पांस जिसे कंडीशंड करके लाया गया हो। 

उन्होंने कुत्ते के मुंह में एक टेस्ट ट्यूब डालकर देखा कि जब कुत्ते को खाना दिया जाता है तो,  कितनी मात्रा में लार आती है। उन्होंने नोटिस किया कि कुत्ते को जैसे ही पता चलता है कि उसे खाना देने वाला कोई आने वाला है या उसके फुटस्टेप की आवाज सुनाई देती है तभी वह, 
सेलिवेशन स्टार्ट कर देता है। 

कंडीशनिंग होने के बाद तीन लेवल्स सामने आए-
1. कंडीशनिंग से पहले (Before Conditioning) - UCS=UCR
इसके अनुसार अनकंडीशंड Stimulus, अनकंडीशंड रिस्पांस के बराबर हो जाता है। 

2. कंडीशनिंग के समय (at the time of conditioning) 
NS (Bell) +UCS (food) =UCR (Salivation) 
इसमें एसोसिएशन और रिपीटेशन काम करता है। यानी बार-बार घंटी के बाद खाना दिया जाएगा तो लार आएगी। 

3. कंडीशनिंग के बाद (After Conditioning) 
Conditioned Stimulus (bell) = Conditioned Response(Salivation) 
घंटी बजाने पर लार आयेगी। 

इस प्रकार से प्राकृतिक या कृत्रिम उद्दीपक के कारण कारण Natural Response जनरेट हो जाता है। छोटे बच्चों को एटीकेट्स सिखाने में, सर्कस के जानवरों को trained करने में,  Time management में, कई जगहों पर इस थ्योरी का उपयोग किया जाता है।
मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा के इंपोर्टेंट नोट्स के लिए कृपया mp tet varg 3 notes in hindi पर क्लिक करें.


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here